विवेक और अनुराग बने सैन्य अधिकारी, परिवार और जिले का नाम किया रोशन

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। जिले के दो युवाओं ने सेना में अधिकारी बनकर परिवार और जिले का नाम रोशन किया है। शनिवार को हुई पासिंग आउट परेड में खोली गांव के विवेक सिंह परिहार और किमोली गांव के अनुराग बिष्ट पास आउट होकर भारतीय सेना में लेफ्टिनेंट बने।
जिला मुख्यालय के करीबी गांव खोली और हाल नदीगांव निवासी विवेक सिंह परिहार साल 2012 में इंटर पास करने के बाद वर्ष 2014 में वह सेना में भर्ती हो गए। सेना में रहते हुए ही उन्होंने 2018 में आर्मी कैडेट परीक्षा पास की और चार साल के प्रशिक्षण के लिए देहरादून आ गए। शनिवार को हुई पासिंग आउट परेड में उनके पिता आनंद सिंह परिहार, माता मोहनी परिहार और बहन रानी परिहार साथ थे। उनके भाई हंसराज सिंह परिहार भी सेना में कार्यरत हैं। विवेक ने अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता, सेना के मेजर सागर देशपांडे सेना मैडल और कड़ी मेहनत को दिया है।

वहीं दफौट क्षेत्र के किमोली गांव निवासी अनुराग बिष्ट ने विद्यालयी शिक्षा के बाद पहले ही प्रयास में वर्ष 2018 में एनडीए की परीक्षा उत्तीर्ण की। एनडीए में तीन साल का प्रशिक्षण हासिल करने के बाद जनवरी 2022 में भारतीय सैन्य अकादमी में प्रवेश लिया। अनुराग के पिता गजेंद्र सिंह बिष्ट भी सेना से से‌वानिवृत हैं। अनुराग के मामा डॉ. हरीश दफौटी ने बताया कि वह बचपन से ही पढ़ने में होनहार था और सेना में अफसर बनना चाहता था। अनुुराग ने अपनी सफलता का श्रेय माता मीरा बिष्ट को दिया है।

यह भी पढ़ें 👉  58 पव्वे देशी मसालेदार शराब के साथ एक गिरफ्तार

Show quoted text

Ad Ad Ad Ad