नहीं थम रही आसमानी आफत, 31 तक यलो अलर्ट बागेश्वर में 7 सड़कें बंद

ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड में बारिश के चलते जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है। लोग बारिश के थम जाने का इंतजार कर रहे हैं, लेकिन ऐसा होता दिख नहीं रहा।
आज प्रदेश के देहरादून, चमोली और बागेश्वर जिले के कई इलाकों में भारी बारिश होने की संभावना है। अगले कुछ दिनों तक बारिश से राहत नहीं मिलेगी। प्रदेश में 28 से 31 जुलाई तक भारी बारिश का यलो अलर्ट घोषित है। मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि अगले कुछ दिनों तक प्रदेश के कई इलाकों में बिजली चमकने और मूसलाधार बारिश होने के आसार हैं। विभाग ने संवेदनशील इलाकों में भूस्खलन से सड़क मार्ग और राजमार्ग अवरुद्ध होने की संभावना जताई है। भारी बारिश के चलते पर्वतीय इलाकों में सड़कों का बुरा हाल है। बीते दिन बागेश्वर जिले की कई ग्रामीण सड़कें जगह-जगह अवरुद्ध हो गया थी। जिनको खोलने का कार्य जारी है।

जिला आपदा परिचालन केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार
. सातचौरा जत्थाकोट मोटर मार्ग कि०मी० 02 तथा 03 में मलुवा / बोल्डर आने के कारण अवरूद्ध है। (ग्रामीण मार्ग)
. बागेश्वर दफौट बनकोट मोटर मार्ग कि०मी० 35 में मलुवा / बोल्डर आने के कारण अवरुद्ध है। (मुख्य जिला मार्ग)
. थुनाई मिहिनिया मोटर मार्ग कि०मी० 01 में मलुवा / बोल्डर आने के कारण अवरूद्ध है। (ग्रामीण मार्ग)
. भयूँ गुलेर मोटर मार्ग किमी0 10 में मलुवा आने से अवरूद्ध (ग्रामीण मार्ग)

यह भी पढ़ें 👉  वनाग्नि की चपेट में आकर युवक की मौत

. कठपुछियाछीना सेराघाट से नायलमाफी मोटर मार्ग कि०मी० 01.05 में मलुवा / बोल्डर आने के कारण अवरुद्ध है। (ग्रामीण मार्ग)
. काफलीकमेडा मोटर मार्ग कि०मी० 04 में मलुवा / बोल्डर आने के कारण अवरूद्ध है। ( ग्रामीण मार्ग)
. सूपी-झूनी मोटर मार्ग किमी0 03.06 में मलुवा / बड़े बोल्डर आने के कारण अवरुद्ध है। (ग्रामीण मार्ग)

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में जंगलों की आग पर सुप्रीम कोर्ट का सख्त रुख, मुख्य सचिव तलब, फंड और लापरवाही पर घेरा