ऋषिकेश से रवाना हुआ हेमकुंड साहिब का पहला जत्था, राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने किया रवाना

ख़बर शेयर करें -

राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह और मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने हेमकुंड साहिब गुरुद्वारा परिसर ऋषिकेश से श्री हेमकुंड साहिब यात्रा के प्रथम जत्थे को रवाना किया। उन्होंने गुरुद्वारा में मत्था टेककर प्रदेश वासियों की सुख-समृद्धि की कामना की।  
  मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने हेमकुंड साहिब की यात्रा पर जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं की गई हैं। उन्होंने सभी श्रद्धालुओं से यात्रा पर जाने से पहले स्वास्थ्य परीक्षण जरूर करवाने को कहा। मुख्यमंत्री ने कहा कि चारधाम यात्रा चरम पर है। पिछले वर्ष 50 लाख से अधिक श्रद्धालुओं ने चारधाम यात्रा के दर्शन किए थे। इस वर्ष इससे भी अधिक श्रद्धालुओं के आने का अनुमान है। उन्होंने कहा कि सरकार का प्रयास है कि देवभूमि आने वाले श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार से परेशानी न हो। उन्होंने श्री केदारनाथ एवं श्री हेमकुंड साहिब के लिए रोप-वे का शिलान्यास करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताते हुए कहा कि इन रोप-वे के बनने से यात्रा सहज एवं सुगम होगी। कर्णप्रयाग-ऋषिकेश रेल लाइन शुरू होने से हेमकुंड साहिब की यात्रा और सुगम होगी।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में भी कांवड़ यात्रा रूट में ठेली और दुकानों पर लगानी होगी नेम प्लेट: सीएम धामी