सुंदरढूंगा नदी ने रोकी राह, रेस्क्यू टीम के लिए बाधा बना जल प्रवाह

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। सुंदरढूंगा ग्लेशियर से टूरिस्ट गाइड के पार्थिव शरीर को लाने के लिए गई रेस्क्यू टीम रास्ते में फंस गई है। तेज बारिश के बाद उफ़नाई सुंदरढूंगा नदी ने टीम की राह रोक ली है। फिलहाल टीम कठलिया तक नहीं पहुंच सकी है। नदी का जल प्रवाह कम होने के बाद टीम बनार जाकर गाइड के शव को वापस लाएगी।

गौरतलब है कि पिछले वर्ष 18 अक्टूबर को जैंकुनी गांव के टूरिस्ट गाइड खिलाफ से दानू सुंदरढूंगा ग्लेशियर में लापता हो गए थे। वह 12 अक्टूबर को पांच बंगाली ट्रैकरों को लेकर ट्रैक पर गए थे, जहां बर्फीले तूफान में गाइड समेत पाचों ट्रैकर फंस गए थे। बाद में सभी ट्रैकरों के शव एसडीआरएफ की टीम ने बरामद किए, लेकिन गाइड का पता नहीं चल सका था।

यह भी पढ़ें 👉  इंटर में ललित रहे टॉपर, हाईस्कूल में निकिता, अंकित, हर्षित ने किया टॉप

बीते दिनों गाइड को खोजने गए मृतक के बड़े भाई आनंद सिंह दानू और ग्रामीणों ने गाइड के शव को ग्लेशियर में देखा। जिसकी सूचना उन्होंने तहसील प्रशासन को दी। तहसील प्रशासन ने एसडीआरएफ पुलिस और फायर सर्विस की टीम को रेस्क्यू के लिए भेजा, लेकिन खराब मौसम और सुंदरढूंगा नदी में आए उफान के कारण बीच रास्ते में फंसी है। वहीं एसडीएम परितोष वर्मा का कहना है कि नदी का बहाव कम होने के बाद भी आगे को रवाना होगी।

यह भी पढ़ें 👉  वनाग्नि की चपेट में आकर युवक की मौत