पारंपरिक ऐपण के साथ साथ पेंसिल आर्ट में भी हुनर दिखा रही है प्रीति अधिकारी

ख़बर शेयर करें -

ऐपण कला में हुनर दिखाने के बाद असगोली द्वाराहाट अल्मोड़ा निवासी प्रीति अधिकारी अब पेंसिल आर्ट से भी स्कैच बना रही है। वर्तमान में अल्मोड़ा से एम. ए.की पढ़ाई कर रही प्रीति लम्बे समय से ऐपण कला के क्षेत्र में कार्य कर रही है। प्रीती ने ऐपण से आकर्षक चित्र, दीवार पेंटिंग्स, धार्मिक कार्यों के लिए चौकियां,ऐपण राखियां बनाई लोगों ने उनकी कला को खूब सराहा भी। प्रीती बताती हैं कि उन्हें ऐसे क्रियाकलापों को करने में बचपन से दिलचस्पी रही है और वो आगे भी अपनी पढ़ाई के साथ साथ कला के क्षेत्र में भी नये कार्य करना चाहती है।वो तेजी से बढ़ते समय के साथ अपनी कला को भी निखार कर प्रदर्शित करना चाहती हैं।

स्वनिर्मित ऐपण पूजा थाल के साथ प्रीति अधिकारी।

हाल ही में प्रीति अधिकारी ने नीम करौली बाबा का पेंसिल स्कैच तैयार किया है जिसकी शोशल मीडिया पर खूब प्रशंसा हो रही है और लोग प्रीति की कला की भी सराहना कर रहे हैं। लोग नीम करौली बाबा के स्कैच चित्र को मंगाने के लिए भी अपने आर्डर भेज रहे हैं। प्रीति ने बताया कि उन्हें नीम करौली बाबा के पेंसिल स्कैच चित्र को बनाने में तीन घंटे का समय लगा। उन्होंने इसी तरह अन्य पेंसिल स्कैच चित्र तैयार किए हैं।

यह भी पढ़ें 👉  बागेश्वर के राजेश ने उत्तीर्ण की सिविल सेवा परीक्षा, जिले का नाम किया रोशन
प्रीति द्वारा पेंसिल स्कैच से बनाया नीम करौली बाबा का चित्र।

प्रीति मानती हैं कि पढ़ाई के अलावा खाली समय में चित्रकारी या अन्य गतिविधियों को करने से समय का सदुपयोग भी होता है और सकारात्मक उर्जा मिलती है।

यह भी पढ़ें 👉  जिले की सीमाओं पर 19 अप्रैल तक रहेगी नाकाबंदी, डीएम ने दिए निर्देश
नीम करौली बाबा का पेंसिल स्कैच बनाती प्रीति