सिंगल यूज प्लास्टिक और गंदगी पड़ी अधिकारियों पर भारी, किसी को मिली प्रतिकूल प्रविष्टि तो किसी का रुका वेतन, कारण बताओ नोटिस भी जारी

ख़बर शेयर करें -

पिथौरागढ़। जिला पंचायत स्तर पर स्वच्छता कार्यक्रम सुचारू रूप से संचालित नहीं किए जाने एवं प्रतिबंधित सिंगल यूज प्लास्टिक उत्पादों पर पूरी तरह रोक नहीं लगना जिले के अधिकारियों पर भारी पड़ गया। जिलाधिकारी डॉ आशीष चौहान ने अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत एवं जिला पंचायत राज अधिकारी को प्रतिकूल प्रविष्टि दी है, जबकि दो बीडीओ और सहायक परियोजना निदेशक का वेतन रोकते हुए कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

     दरअसल जिलाधिकारी डॉ आशीष चौहान द्वारा गत दिवस बुधवार को ग्रामीण क्षेत्र बड्डा एवं कासनी का स्थलीय निरीक्षण किया था। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने पाया कि संबंधित क्षेत्रों में प्रतिबंधित सिंगल यूज़ प्लास्टिक का प्रयोग हो रहा है तथा सड़कों के समीप अत्यधिक मात्रा में कूड़ा-कचरा फैला हुआ है। जिलाधिकारी द्वारा पूर्व में पत्र के माध्यम से अपर मुख्य अधिकारी जिला पंचायत एवं जिला पंचायत राज अधिकारी को ग्राम पंचायतों में आवश्यक स्वच्छता व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने तथा प्रतिबंधित सिंगल यूज़ प्लास्टिक के प्रयोग पर प्रवर्तन कार्य किए जाने के निर्देश दिए गए थे, किंतु संबंधित अधिकारियों द्वारा निर्देशों का अनुपालन नहीं किया गया। निर्देशों की अवहेलना को घोर अनुशासनहीनता मानते हुए जिलाधिकारी ने संबंधित अधिकारियों को प्रतिकूल प्रविष्टि दी है। इसके अलावा विन, मूनाकोट ब्लाकों के बीडीओ और सहायक परियोजना निदेशक का वेतन रोकने के साथ ही कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंग: वनाग्नि की चपेट में आने से चार वन कर्मियों की मौत, सीएम धामी ने घटना पर जताया दुख