खनन क्षेत्र में युद्धस्तर पर करें शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल, सड़क के कार्य, डीएम ने खनिज फाउंडेशन न्यास की समीक्षा बैठक में दिए निर्देश

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। जिला खनिज फाउंडेशन न्यास की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने कार्यदायी संस्थाओं को अवशेष निर्माण कार्यों को तेजी से पूरा करने और कार्य पूर्ण हो चुके कार्यों के उपयोगिता प्रमाण पत्र जिला कार्यालय को यथाशीघ्र उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने खनन क्षेत्र में शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल, सड़क मार्ग जैसे जरूरी कार्यों को युद्धस्तर पर पूर्ण करने को कहा।

  डीएम पाल ने कहा कि खनन न्यास निधि से जिले के खनन प्रभावित इलाकों में जनता की समस्याओं का समाधान करने एवं उन्हें सुलभ सुविधाएं प्रदान की जानी है। इसलिए जो कार्य किए जा रहे है उन्हें समयबद्धता के साथ पूर्ण किए जाए। तथा कार्य पूर्ण होने पर नियमानुसार उपयोगिता प्रमाण पत्र व थर्ड पार्टी की रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए। बैठक में अधिशासी अभियंता आरडब्ल्यूडी द्वारा जानकारी दी गई कि विभाग द्वारा 70 प्रतिशत कार्य पूर्ण कर लिए गए है, तीन कार्यो की यूसी दे दी गयी  है तथा नौ कार्यो की यूसी भेजी जानी है। अधिशासी अभियंता लोनिवि ने बताया कि कपकोट क्षेत्र में  पांच कार्य है, जिन्हें पूर्ण कर लिया गया है। ईई जल संस्थान ने बताया कि चार कार्यो में से तीन कार्य पूर्ण हो गये है। मुख्य शिक्षा अधिकारी ने बताया कि आठ कार्यो के सापेक्ष पांच कार्य पूर्ण कर लिए गए हैं तथा  शेष तीन कार्यो को यथा समय पूर्ण कर लिया जाएगा। बैठक के दौरान अपर मुख्य चिकित्साधिकारी ने स्वास्थ विभाग के कार्यो की भी जानकारी दी। जिलाधिकारी ने सभी अधिकारियों को पूर्ण कार्यो के उपयोगिता प्रमाण पत्र समय से उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें 👉  अदरक कूटकर बनाई चाय, मॉर्निंग वॉक पर सुनी लोगों की समस्याएं, अस्पताल का किया निरीक्षण

बैठक में उपजिलाधिकारी अनुराग आर्या, मुख्य शिक्षा अधिकारी जीएस सौन, ईई लोनिवि अमित कुमार पटेल, जल संस्थान सीएस देवडी, लघु सिंचाई विमल सूंठा, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. देवेश चौहान, खनन अधिकारी जिज्ञासा बिष्ट आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  किसान, बागवान और पशुपालकों के उत्पाद को बाजार उपलब्ध कराने को करें कार्य: जोशी, डीएम ने दिलाया सर्वांगीण विकास का भरोसा