शिक्षण संस्थानों के आसपास नहीं बिकेंगे नशीले पदार्थ, नाबालिगों को गुटखा, सिगरेट, तंबाकू बेचने वालों पर होगी कार्रवाई

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने विद्यालयों के आस-पास किसी भी प्रकार की नशीली वस्तु की बिक्री नही किए जाने के निर्देश दिए हैं, कहा कि विद्यालयों के समीप किसी प्रकार के तंबाकू उत्पाद व अन्य नशीली वस्तु न बिके इसके लिए उपजिलाधिकारी व पुलिस विभाग नियमित रूप से निरीक्षण करें। साथ ही शिक्षा विभाग इस पर पैनी नजर रखे व पाए जाने पर सूचना प्रशासन को दें। साथ ही एनडीपीएस एक्ट में वर्णित प्रावधानों के अंतर्गत जिले में भांग, अफीम, पोस्त जैसी अवैध खेती को रोकने के लिए ठोस उपाय किए जाने को कहा।

मंगलवार को जिला कार्यालय में जिलाधिकारी की अध्यक्षता में एनकार्ड की जिला स्तरीय समिति की बैठक हुई। जिलाधिकारी ने बैठक के दौरान नशा मुक्ति को चलाए जा रहे अभियानों व कार्यक्रमों की समीक्षा की। कहा कि विद्यालयों में समय-समय पर बच्चों के साथ-साथ अभिभावकों के साथ भी नशा मुक्ति को लेकर बैठकें की जाएं। उन्होंने नशा मुक्ति अभियानों में तेजी लाने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने शिक्षा विभाग के अधिकारियों से कहा कि विद्यालयों के आस-पास कोई भी नशीली वस्तु की बिक्री नहीं हो इसका खास ध्यान रखें। विद्यालयों व डिग्री कॉलेजों के आस-पास धूम्रपान व गुटखा बेचने वालों व नाबालिकों को गुटखा, धम्रूपान व अन्य मादक पदार्थ विक्रय करने वालों पर कडी कार्रवाई करने के निर्देश दिए। उन्होंने संबंधितों को स्कूलों एवं कॉलेजों के छात्र-छात्राओं की गतिविधियों पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिए। नशे से होने वाले नुकसान संबंधी पोस्टर विद्यालयों, कॉलेजों एवं सार्वजनिक स्थालों पर लगाने को कहा। विद्यालयों में काउंसलिंग कराने के निर्देश दिए। उन्होंने जनपद में नशे पर प्रतिबंध लगाने के लिए जागरूकता के साथ ही छोपमारी करने के निर्देश संबंधित विभागों को दिए।

यह भी पढ़ें 👉  संवेदनशील मार्गों पर जेसीबी मशीन और ऑपरेटर तैनात करने के निर्देश

जिलाधिकारी ने राजस्व, पुलिस, शिक्षा व स्वास्थ विभाग की गठित संयुक्त कमेटी को सक्रियता से कार्य करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने ड्रग्स निरीक्षक के माध्यम से मेडिकल स्टोरों में निरंतर छापेमारी करने के साथ ही दुकानों में अनिवार्य रूप से सीसीटीवी लगवाने तथा प्रतिबंधित दवाओं पर रोक लगाने के निर्देश दियें। उन्होंने वन विभाग को  वन क्षेत्र में भांग की खेती कतई न होने देने व उसे नष्ट करने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने पुलिस विभाग को नशा मुक्त भारत पखवाडा के तहत मैराथन, स्लोगन, पेंटिंग प्रतियोगिता के माध्यम से जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिए। 

यह भी पढ़ें 👉  डीएम ने दिए जंगल जलाने वाले अराजक तत्वों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने के निर्देश

बैठक में उपजिलाधिकारी हरगिरि, राजकुमार पांडे, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ डीपी जोशी, पुलिस उपाधीक्षक अंकित कंडारी, मुख्य शिक्षा अधिकारी जीएस सौन, समाज कल्याण अधिकारी हेम तिवारी, कृषि रक्षा अधिकारी डॉ नवीन  जोशी, रेंजर श्याम सिंह कारायत आदि मौजूद रहे।