जगदीश की मौत सरकार की बड़ी असफलता, घटना पर सीएम ने सांत्वना तक नहीं कि व्यक्त: तिवारी

ख़बर शेयर करें -

अल्मोड़ा। उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी के केंद्रीय अध्यक्ष पीसी तिवारी ने कहा कि सुरक्षा की गुहार लगाने के बावजूद भी प्रशासन ने कोई कार्यवाही नहीं की जिस कारण जगदीश को अपनी जान से हाथ धोना पड़ा। उपपा ने कहा कि जगदीश की हत्या होना इस सरकार की एक बड़ी असफलता है और इसके बावजूद भी राज्य के मुख्यमंत्री व मंत्रियों की कोई सहानुभूति पूर्ण प्रतिक्रिया तक नहीं आना सोचनीय विषय है। उपपा मांग की कि जगदीश की पत्नी को सुरक्षा व आर्थिक संरक्षण के तौर पर रोजगार दिया जाए जिससे वो अपना जीवनयापन कर सके और जगदीश के परिवार को भी सुरक्षा व मुवावजा दिया जाए एवम् घटना की निष्पक्ष व उच्च स्तरीय जांच की जाए।
पत्रकार वार्ता में जानकारी देते हुए उपपा अध्यक्ष ने कहा कि दिनांक 04 सितंबर को जगदीश के गांव पनुवाद्योखन सल्ट में एक शोक सभा का दोपहर 12 बजे आयोजन किया जाएगा।
उपपा के केंद्रीय अध्यक्ष तिवारी ने कहा कि जगदीश पार्टी से दो बार विधानसभा चुनावों में उम्मीदवार रह चुका था और अपने क्षेत्र में एक जननेता के रूप में तेजी से उभरने लगा था।
प्रेस वार्ता में आनंदी वर्मा, हीरा देवी, भारती पांडे, चंपा सुयाल, गोपाल राम, किरन आर्या, स्निग्धा तिवारी, भावना पांडे, मनोज पंत, दीक्षा सुयाल, नरेश चंद्र नौड़ियाल, वंदना कोहली, दीपांशु पांडे, सरिता मेहरा, पान सिंह, चेतना आंदोलन के विनोद बड़ौनी, शंकर, अतुल सती आदि मौजूद रहे।

Ad Ad

Leave a Reply

Your email address will not be published.