ओवर लोडिंग, ओवर स्पीड पर नियंत्रण को नियमित छापेमारी करें पुलिस और परिवहन विभाग, एडीएम ने दिए निर्देश

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। अपर जिलाधिकारी एनएस नबियाल ने सडक सुरक्षा समिति की बैठक लेते हुए सड़क महकमे के अधिकारियों को दुर्घटना संभावित सड़कों का सुधारीकरण कार्य समय पर करने के निर्देश दिए। जिन सुधारीकरण कार्यो के प्रस्ताव बनाये जाने है, उन्हें भी समय पर भेजने को कहा। कहा कि सड़क सुरक्षा आडिट का अनुपालन किया जाय। सड़को पर सुरक्षा मानकों का विशेष ध्यान देते हुए दुर्घटना संभावित स्थानों पर साईनेज व मोड़ो पर मिरर लगाये जाय। परिवहन व पुलिस विभाग को वाहनों के ओवर लोडिंग, ओवर स्पीड पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने के लिए नियमित छापेमारी करने के निर्देश दिए। नशे व वाहन चलाते समय मोबाइल का प्रयोग करने, बिना हेलमेट पहने दोपहिया वाहन चालको व नाबालिगों द्वारा वाहन चालने वालों के खिलाफ नियमित चालान की कार्रवाई करने को कहा। उन्होंने कहा कि विद्यालयों के साथ ही टैक्सी चालकों के साथ सड़क सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम अधिक से अधिक संचालित किए जाय। वाहनों में फर्स्ट एड बॉक्स अनिवार्य रूप से हो इसे सुनिश्चित कराने के निर्देश एआरटीओ को  दिए।  उन्होंने एआरटीओ व पुलिस को रात्रि गश्त भी बढाने के निर्देश देते हुए परिवहन व पुलिस विभाग को संयुक्त रूप से अभियान चलाकर प्रवर्तन की कार्रवाई करने के निर्देश दिए। बैठक में टैक्सी यूनियन के पदाधिकारियों द्वारा भी सड़क सुरक्षा संबंधी उपायों के बारे में सुझाव दिए । बैठक के दौरान सचिव सड़क सुरक्षा समिति द्वारा सड़कों पर हटाये गयें अतिक्रमण की स्थिति, ओवर लोडिंग, ओवर स्पीड में की गयी कार्यवाही की जानकारी दी। इस मौके पर उपजिलाधिकारी मोनिका, पुलिस उपाधीक्षक एसएस राणा, ईई लोनिवि एके पटेल,  परिवहन कर अधिकारी हरीश रावल, सहायक अभियंता लोनिवि विजेंद्र सिंह मेहरा, अध्यक्ष टैक्सी यूनियन कुंदन सिंह, प्रकाश उपाध्याय, डॉ जितेंद्र तिवारी सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे। 

Ad Ad Ad