नशा रोकने में विफल हो रहा सत्ता तंत्र और पुलिस, अपराधियों को संरक्षण दे रही सरकार : टम्टा

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। पूर्व राज्यसभा सदस्य प्रदीप टम्टा ने जिले में स्मैक के बढ़ते प्रचलन पर चिंता जताते हुए कहा की सत्ता तंत्र और पुलिस स्मैक और नशे को रोकने की बजाय बढ़ाने का काम कर रही है। युवाओं की बर्बाद हो रही जिंदगी को बचाने के लिए ठोस उपाय नहीं किए जा रहे हैं।
जिले के भ्रमण पर आए पूर्व राज्यसभा सदस्य टम्टा ने पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा की कांग्रेस ने हिमालयी राज्य को स्पेशल पैकेज देने के लिए काम किया है। बीजेपी ने देने की जगह उल्टा लेने का काम किया है। पिछले आठ सालो में देश को गर्त में ले जाने का काम किया है। टनकपुर से बागेश्वर रेल लाइन व ऋषिकेश रेल लाइन का काम भी कांग्रेस ने किया। आठ साल से पिथौरागढ़ की हवाई सेवा केवल चुनावी मुद्दा बनी है। अग्निवीर स्कीम लाकर उत्तराखंड के रोजगार को भी खत्म करने का काम किया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने वादा किया था की 24 हजार पद भरे जायेंगे पर अभी तक कोई काम नहीं किया गया है। बीजेपी भ्रष्टाचारियों को बचाने का काम किया है। अंकिता भंडारी हत्याकांड में सरकार ने आज तक नही बताया की कौन वो राजनीतिक लोग थे जो इनके पीछे थे। प्रेम चंद्र अग्रवाल से इस्तीफा अभी तक क्यों नहीं मांगा गया। राज्य में लगातार क्राइम बड़ रहा है इस मामले में कोई काम नहीं किया जा रहा है बड़े अपराधियों को बचाने का काम किया जा रहा है। पिंकी हत्याकांड हो अंकिता हत्याकांड हो या जगदीश हत्याकांड हो इसमें किसी तरह का काम नहीं किया जा रहा है। बागेश्वर में नशा लगातार बड़ रहा है इसको लेकर बागेश्वर पुलिस फेल हो रही ही है। स्मैक को लेकर जो लोग पकड़े भी जा रहे है पुलिस इसको लेकर केवल शो ऑफ कर रही है। बागेश्वर में सत्ता तंत्र ही स्मैक को बड़ा रही है। यहा की पुलिस पूरी तरह फेल है। जब प्रभारी मंत्री भी जब अपने कार्यकर्ताओ की सुन कर अनसुना कर रहे है तो लगता है वो इसको बड़ाने का  कर रहे है। और इस तरह के मामले को वो संरक्षण दे रहे है। प्रभारी मंत्री केवल सैर सपाटे तक सीमित रह गए है। अगर वो सक्षम होते तो अभी तक अपने कार्यकर्ताओ और जनता की समस्या को खत्म कर चुके होते। इस मौके पर कांग्रेस जिलाध्यक्ष भगवत डसीला, पूर्व जिप अध्यक्ष हरीश ऐठानी, सुनील भंडारी, राजेंद्र टंगड़िया, गोविंद बिष्ट आदि मौजूद रहे।

Ad Ad Ad Ad