पहले इंटर डायट कल्चरल मीट का गवाह बनेगा बागेश्वर, प्रदेश के सभी जिलों से आएंगे डीएलएड प्रशिक्षु

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। जिले की डायट में प्रदेश स्तर की अंतर जनपदीय सांस्कृतिक प्रतियोगिता होने जा रही है। नवंबर में प्रस्तावित होने वाली इंटर डायट कल्चरल मीट में सभी जिलों के डीएलएड प्रशिक्षु भाग लेकर डायट प्रवक्ता रवि कुमार जोशी की संकल्पना को साकार करेंगे। दो दिवसीय आयोजन में प्रदेश की विभिन्न संस्कृतियों का समागम देखने को मिलेगा।
डायट प्रवक्ता जोशी ने बताया कि इस कार्यक्रम का उद्देश्य लोक संगीत, लोक नृत्य, नाटिका, बाल गीत, लोक कथाओं के माध्यम से शिक्षण कार्य को रूचिकर और आसान बनाना है। पूर्व से ही प्रारंभिक शिक्षा में इन विधाओं का महत्व रहा है। इसे बढ़ावा देकर जहां विद्यार्थियों को शिक्षा ग्रहण करने में आसानी होगी, वहीं उनके चहुंमुखी विकास में भी मदद मिलेगी। प्रतियोगिता में प्रत्येक जिले की डायट से अधिकतम सात डीएलएड प्रशिक्षु और एक मार्गदर्शक प्रवक्ता प्रतियोगिता में शिकरत करेंगे। सांस्कृतिक प्रतियोगिता में प्रतिभागी उत्तराखंडी लोकगीत, नृत्य नाटिका या पारंपरिक लोक नृत्य, बाल गीत या बाल कविता और समूह गीत विधा में भागीदारी करेंगे। लोक गीत प्रस्तुति केवल प्रदेश के लोक वाद्य यंत्रों की धुन पर ही की जाएगी। नृत्य नाटिका पौराणिक कथाओं पर आधारित होगी।
प्रवक्ता जोशी ने बताया कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति में स्कूल स्तर पर स्थानीय संगीत, कला, भाषा, हस्तकौशल को बढ़ावा देने और संस्कृति के संरक्षण, संवर्धन और प्रसार पर विशेष बल दिया गया है। जिसे ध्यान में रखते हुए इस प्रतियोगिता की संकल्पना की गई है। आने वाले वर्षों में प्रतियोगिता में कई अन्य नवाचार जोड़कर इसे वृहद रूप देने का प्रयास किया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  किसान, बागवान और पशुपालकों के उत्पाद को बाजार उपलब्ध कराने को करें कार्य: जोशी, डीएम ने दिलाया सर्वांगीण विकास का भरोसा