ड्रॉप आउट विद्यार्थियों को चिह्नित कर शिक्षा से जोड़े विभाग, संस्थागत प्रसव बढ़ाने के भी दिए निर्देश

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। मुख्य विकास अधिकारी आरसी तिवारी की अध्यक्षता में कपकोट ब्लॉक के आकांक्षी कार्यक्रम की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में आकाँक्षी ब्लाॅक कार्यक्रम अन्तर्गत नीति आयोग द्वारा निर्धारित 40 सूचकांकों की स्थिति की समीक्षा की गयी। जिला और ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों ने ऑनलाइन बैठक में भाग लिया।

सीडीओ तिवारी ने स्वास्थ्य विभाग, बाल विकास विभाग व ग्राम्य विकास विभाग को कपकोट के दूरस्थ गावों में गर्भवती महिलाओं के एएनसी जांच करने, संस्थागत प्रसव को बढ़ाने तथा गर्भावस्था के दौरान दिये जाने वाले पौष्टिक आहार आदि की जानकारी देने हेतु जनजागरूकता कार्यशालाओं का आयोजन करने के निर्देश दिए गए। कपकोट के दूरस्थ गांवों की महिलाओं को सम्भावित प्रसव की तिथि से एक सप्ताह पूर्व अस्पताल के नजदीक स्थित प्रतीक्षालयों में भर्ती करने के निर्देश दिए गए, ताकि महिला का सुरक्षित संस्थागत प्रसव हो सके। उन्होंने  शिक्षा विभाग को सभी ड्राॅपआउट छात्र-छात्राओं को चिन्हित कर उन्हें शिक्षा से जोड़ने हेतु आवश्यक कार्यवाही करने तथा हाईस्कूल एवं इण्टर बोर्ड परीक्षा में प्रथम श्रेणी में उत्तीर्ण छात्र-छात्राओं का प्रतिशत बढ़ाने हेतु अधिक से अधिक छात्र-छात्राओं के सुधार परीक्षा फार्म भरकर, छात्र-छात्राओं की सुधार परीक्षा की तैयारी कराने के निर्देश मुख्य शिक्षा अधिकारी को दिये गए। कृषि विभाग को पीएम किसान के लाभार्थियों का डाटा, मृदा स्वास्थ्य कार्ड का निर्धारित लक्ष्य समय से पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने कपकोट विकास खण्ड में बैंकिग टच प्वांइट बढ़ाने के निर्देश जिला लीड बैंक अधिकारी को दिए गए।

यह भी पढ़ें 👉  लोगों के कार्यों को उलझाने की नहीं सुलझाने की प्रवृति बनाएं अधिकारी: सीएम

बैठक में परियोजना निदेशक शिल्पी पंत समेत स्वास्थ्य, शिक्षा, बाल विकास, कृषि, पंचायतराज, पशुपालन ग्राम्य विकास, पेयजल निगम, जल संस्थान, लीड बैंक आदि विभागों के जनपद एवं ब्लाॅक स्तरीय अधिकारियों ने ऑनलाइन माध्यम से प्रतिभाग किया।

यह भी पढ़ें 👉  अदरक कूटकर बनाई चाय, मॉर्निंग वॉक पर सुनी लोगों की समस्याएं, अस्पताल का किया निरीक्षण