जिले में लंपी वायरस का कहर,अब तक 39 पशुओं की मौत 578 एक्टिव केस

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। जिले में इन दिनों लंपी वायरस का कहर चल रहा है। लंपी वायरस की चपेट में आने से पशुओं की मौत हो रही हैं। जिलाधिकारी अनुराधा पाल के निर्देशानुसार वर्तमान में जनपद में गोवंशी पशुओं में फैली बीमारी के दृष्टिगत पशुपालन विभाग द्वारा लगातार गांव-गांव जाकर रोग से पीड़ित पशुओं का इलाज कर सघन टीकाकरण अभियान के अंतर्गत स्वस्थ पशुओं का टीकाकरण भी किया जा रहा है। गांवों में विभाग द्वारा सचल पशु चिकित्सा शिविर तथा स्थानीय टीमों द्वारा शिविर लगाकर चिकित्सा/ वाह्य व अंतरिक क्रमि नाशक दवाओं का वितरण करने के साथ साथ पशुपालकों को रोग के लक्षण व बचाव हेतु जागरूक भी किया जा रहा है।

मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ आर चंद्र ने बताया कि वर्तमान तक कुल 3261 बीमार पशुओं की चिकित्सा की गई है जिसमें 2644 पशु पूर्णत: स्वस्थ हो चुके है जबकि 578 एक्टिव केस अभी भी हैं जिनका इलाज किया जा रहा है। जनपद में अभी तक कुल 39 पशुओं की मृत्यु हुई है। विभाग द्वारा सभी पशु चिकित्सालयों में उपलब्ध कार्मिकों की उपलब्धता के अनुसार 2 – 2 कर्मिकों की टीमें बनाई गई हैं जिनके द्वारा चिकित्सा व टीकाकरण का कार्य लगातार किया जा रहा है। उन्होंने पशुपालकों से गांवों में पहुंच रही टीकाकरण टीमों को सहयोग देने की अपील की है तथा पशुओं का टीकाकरण अवश्य कराने को कहा ताकि जनपद में शत प्रतिशत टीकाकरण किया जा सके। उन्होंने कहा पशुओं को पेट के कीड़ों और बाहरी परजीवी नाशक दवाऐं और पौष्टिक आहार दें ताकि उनमें रोग प्रतिरोधक क्षमता अधिक विकसित हो सके।

मुख्य पशु चिकित्साधिकारी ने पशुपालकों से पशुओं के इलाज और टीकाकरण के लिए अपने नजदीक के पशु चिकित्सक या पशुधन प्रसार अधिकारी से संपर्क करने को भी कहा।

यह भी पढ़ें 👉  मानसून काल के लिए सतर्क रहें सभी विभाग, जिलाधिकारी ने बैठक में दिए निर्देश