धूमधाम से मनाया गया गणतंत्र दिवस, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी, वीरांगना और किसान हुए सम्मानित, रंगारंग कार्यक्रमों का भी आयोजन

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। जिले में 74 वां गणतंत्र दिवस समारोह हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। जिले के प्रभारी व पशुपालन एवं दुग्ध विकास मंत्री सौरभ बहुगुणा ने पुलिस लाईन ग्राउंड में ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली और नुमाइशखेत मैदान में सामूहिक ध्वजारोहण कार्यक्रम में प्रतिभाग कर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों व उनके उत्तराधिकारियों को सम्मानित किया। उन्होंने सभी को संविधान की उद्देशिका की शपथ दिलाई।

मुख्य कार्यक्रम में स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पदम सिंह चौहान, शिव लाल वर्मा की वीरांगना नन्दी वर्मा और लक्ष्मण सिंह की वीरांगना भगवती देवी को अंगवस्त्र भेंट कर सम्मानित किया गया। 30 किसानों को कृषि व बागवानी क्षेत्र में सराहनीय कार्य करने, अधिकारियों, कर्मचारियों, खिलाडियों, समाजसेवियों व स्वंय सहायता समूह को उत्कृष्ट कार्य हेतु पुरस्कृत किया गया। विभिन्न्न विद्यालयों के बच्चों द्वारा देशभक्त व सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए गए। गणतंत्र दिवस के पावन अवसर पर प्रशासनिक अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों के बीच रस्साकस्सी का आयोजिन किया गया, जिसमें प्रशासनिक अधिकारियों का पलडा भारी रहा। इससे पूर्व प्रात: प्रभातफेरी का भी आयोजन किया गया।

काबीना मंत्री सौरभ बहुगुणा ने अपने संबोधन में जनपद वासियों को गणतंत्र दिवस की बधाई दी और देश के वीर स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को याद करते हुए श्रद्धांजलि दी। उन्होंने संविधान निर्माताओं को याद करते हुए उनके योगदान को स्मरण किया। उन्होंने कहा देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के एक भारत, श्रेष्ठ भारत के संकल्प को पूरा करने के लिए हम सब को मिलकर योगदान देना होगा। 2025 तक उत्तराखंड को देश का अग्रणी राज्य बनाने के लिए राज्य सरकार हर क्षेत्र मे तेजी से कार्य कर रही है। जनभागीदारी एवं जन सहयोग से उत्तराखंड को देश का अग्रणी राज्य बनाया जाएगा।

यह भी पढ़ें 👉  गीत संगीत से किया मतदाताओं को जागरूक, स्वीप ने किया स्टार इवनिंग कार्यक्रम

उन्होंने कहा देश 15 अगस्त 1947 को आजाद तो हो गया था, मगर हमें पूर्ण आजादी 26 जनवरी, 1950 को मिली। भारत देश विभिन्न कला संस्कृति का होने के बावजूद भी यहां अनेकता में एकता देखने को मिलती है, जो हमें संविधान के माध्यम से मिली है। स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों व शहीदों के बलिदान से ही हम आज आजाद भारत में सांस ले पा रहे है। उन्होंने कहा यह पर्व हमारे लिए गौरव व सम्मान का पर्व है। स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों व शहीदों के सपनों के अनुरूप पिछले आठ वर्षो में भारत का नाम जिस प्रकार से रोशन होने के साथ विश्व के सामने एक ताकत बनकर सामने आया है, उसके पीछे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी का हाथ है, इस सराहनीय कार्यो के लिए प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया। स्वतंत्रता संग्राम में विशेष योगदान के लिए उन्होंने बागेश्वर की धरती को नमन करते हुए कहा यहां की धरती महान है। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री का सपना है आने वाला दशक उत्तराखंड का होगा उस दिशा में प्रदेश सरकार कार्य करते हुए विकास कार्यो  को धरातल पर उतार रही है। उन्होंने कहा रोजगार सृजन व पलायन रोकने के लिए गोट वैली जैसी महत्वाकांक्षी योजना संचालित की गयी है। उन्होंने युवाओं से आह्वान करते हुए कहा कि एक भारत, श्रेष्ठ भारत की संकल्पना को पूर्ण करने के लिए आगे आएं व छोटी-छोटी कोशिशों व साहयोग देकर शहीदों के सपनों का भारत बनाने में अपनी अहम भूमिका निभाएं।

कार्यक्रम के पश्चात प्रभारी मंत्री ने विभागीय स्टॉलों का निरीक्षण किया व बागनाथ मंदिर पहुँचे व पूजा अर्चना कर माघी खिचडी का प्रसाद ग्रहण किया।

इससे पूर्व सभी सरकारी व अर्द्ध सरकारी कार्यालयों में ध्वज फहराया गया, कलेक्ट्रेट में जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने झंडारोहण किया, उपस्थित अधिकारियों व कर्मचारियों को संविधान की शपथ दिलाई।

यह भी पढ़ें 👉  प्रदेश में फिर करवट बदलेगा मौसम, इन जिलों में होगी बारिश

जिलाधिकारी ने जनपदवासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, संविधान निर्माताओं और राज्य आन्दोलनकारियों को नमन करते हुए कहा कि गणतंत्र दिवस हमारे संविधान निर्माण का एक पर्व है। आज के दिन हमारे देश में बाबा साहेब अम्बेडकर के दिशा निर्देशन में बनाए गए संविधान को लागू किया गया था। हमारा यह विशिष्ट संविधान हमारे राष्ट्र का निरंतर मार्गदर्शन करता आ रहा है। कहा कि गणतंत्र दिवस हमारे स्वाधीनता सेनानियों के त्याग एवं बलिदान का स्मरण भी कराता है। यह अवसर हमें देशभक्तों के सपनों को साकार करने और अपने लक्ष्यों के प्रति प्रतिबद्ध होने का संकल्प लेने की भी प्रेरणा देता है। संविधान के अंतर्गत ही हम सभी की जिम्मेदारी यह भी है कि हम न्याय, स्वतंत्रता, समानता और भाईचारे के मूलभूत लोकतांत्रिक आदर्शों के प्रति सदैव प्रतिबद्ध रहें।

कार्यक्रम में जिला पंचायत अध्यक्ष बसंती देव, विधायक कपकोट सुरेश गढिया, अध्यक्ष नगर पालिका सुरेश खेतवाल, उपाध्यक्ष जिला पंचायत नवीन परिहार, ब्लॉक प्रमुख पुष्पा देवी, जिलाध्यक्ष भाजपा इन्द्र सिंह फर्स्वाण, पुलिस अधीक्षक हिमांशु वर्मा, अपर जिलाधिकारी चन्द्र सिंह इमलाल, मुख्य विकास अधिकारी संजय सिंह, उपजिलाधिकारी हरगिरि, पुलिस उपाधीक्षक एसएस राणा, अंकित कण्डारी, मुख्य शिक्षा अधिकारी जीएस सौन, मुख्य कृषि अधिकारी एसएस वर्मा, दलीप खेतवाल, इन्द्र सिंह परिहार, बाला दत्त तिवारी, किशन सिंह मलडा, दीप जोशी, हरीश सौनी सहित अनके गणमान्य व्यक्ति, जनप्रतिनिधि, अधिकारी, कर्मचारी व आमजनता मौजूद थी। कार्यक्रम का संचालन जिला विकास अधिकारी संगीता आर्या द्वारा किया गया।