ब्रेकिंग : हल्द्वानी में बवाल के बाद प्रशासन की सख्ती,शहर में कर्फ्यू उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने का फरमान

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी के थाना बनभूलपुरा के पास मलिक के बगीचे में अवैध मदरसे और नमाज स्थल को तोड़ने के दौरान बवाल हुआ। जब नगर निगम की टीम जेसीबी लेकर पहुंची तो उपद्रवियों ने पत्थरबाजी की। हल्द्वानी में अवैध मस्जिद-मजार के ध्वस्त होने के बाद बवाल हुआ और इस दौरान आगजनी भी हुई।

वहीं इस घटना को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है और उपद्रवियों को गोली मारने का आदेश दिया है। बिगड़ते हालात को देखते हुए उत्तराखंड सरकार ने हल्द्वानी में कर्फ्यू घोषित कर दिया है और इसके साथ ही दंगा करने वालों के खिलाफ यूएपीए के अंतर्गत कार्रवाई करने के आदेश दिए हैं।

वहीं सीएम धामी ने मुख्य सचिव और पुलिस महानिदेशक के साथ हालात की समीक्षा की और लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की।उत्तराखंड सरकार ने घटना के बाद इलाक में पैरामिलिट्री फोर्स बुलाई है। इस घटना को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि न्यायालय द्वारा दिए गए आदेशों के क्रम में प्रशासन की टीम अवैध अतिक्रमण को हटाने गई थी. वहां अराजक तत्वों के साथ पुलिस की झड़प हुई है। जिसमें पुलिस और प्रशासन के लोगों को चोट आई हैं। तत्काल वहां पर पुलिस और अन्य केंद्रीय बल की टुकड़ियां भेजी जा रही हैं। सभी से शांति बनाने की अपील की जाती है, कर्फ्यू लगा दिया गया है। जिन्होंने आगजनी की है उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि थाना बनभूलपुरा के पास मलिक के बगीचे में अवैध मदरसे और नमाज स्थल को तोड़ने के दौरान बवाल हुआ। जब नगर निगम की टीम जेसीबी लेकर पहुंची तो इसी दौरान वहां मौजूद उपद्रवियों ने प्रशासन, पुलिस और पत्रकारों के ऊपर पत्थर बाजी की।जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हुए, उपद्रवियों ने पुलिस, नगर निगम और पत्रकारों की गाड़ियों में भी आग लगाई। वहीं थाना बनभूलपुरा के पास भी पुलिस की गाड़ी में आग लगाई गई है। हालांकि इस समय हालात बेकाबू हैं और पुलिस द्वारा कई राउंड की फायरिंग भी की गई है। पुलिस और प्रशासन के आला अधिकारी भी मौके पर डटे हुए हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने हल्द्वानी की घटना को लेकर अधिकारियों के साथ हाई लेवल की मीटिंग बुलाई है। हल्दवानी के डीसीपी अभिनव कुमार ने इस मामले को लेकर कहा कुछ अराजक तत्वों द्वारा वहां पर पथराव किया गया। सूचना के अनुसार अराजक तत्वों ने फायरिंग भी की और अतिरिक्त फोर्स भी लगा दी गई है। फिलहाल किसी के हताहत होने की सूचना नहीं आई है।हमारे पास सारी फुटेज है, इस मामले को राज्य सरकार द्वारा काफी गंभीरता से लिया गया है। वहीं आने वाले समय में उपद्रवियों को चिन्हित किया जाएगा और कठोर से कठोर कार्रवाई की जाएगी। बता दें पहले भी इस इलाके में लगभग 4000 से ज्यादा मकान तोड़े जाने थे, जिसकी याचिका सुप्रीम कोर्ट में चल रही है। इस इलाके में पहले भी इस तरह का माहौल बन चुका है। फिलहाल पुलिस ने इस पूरे क्षेत्र में कर्फ्यू लगाने की घोषणा कर दी है।

Ad Ad Ad