कहीं पानी का संकट, कहीं रास्तों में बह रहा गंदा पानी, जनता दरबार में दर्ज हुई 10 शिकायतें

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। जिलाधिकारी अनुराधा पाल की अध्यक्षता में सोमवार को तहसील सभागार में जनता दरबार लगाा। जनता दरबार में लोगों ने 10 शिकायतें व समस्याएं रखी।
डीएम ने कहा कि अधिकारी हर समस्या के प्रति संवेदनशील रहें। यदि शिकायतें उच्च स्तर की हो तो अधिकारी इसका त्वरित संज्ञान लेते हुए समाधान को उच्चाधिकारियों से पत्राचार करें, तथा शिकायतकर्ता को भी इससे अवगत कराना सुनिश्चित करें। अधिकारी जनता दरबार में उठी समस्याओं का समाधान निश्चित समयावधि में करना सुनिश्चित करें। शिकायतों का निराकरण करना अधिकारियों की जिम्मेदारी है, यदि कोई शिकायतकर्ता शिकायत लेकर कार्यालयों में भी आता है, तो उनकी समस्याओं को प्राथमिकता के आधार पर सुना जाना चाहिए।

सोमवार को आयोजित जनता दरबार में पीपल चौक मंडलसेरा के ग्रामीणों ने क्षेत्र में पेयजल आपूर्ति सुचारू कराने की मांग रखी, जिस पर जिलाधिकारी ने ईई जल संस्थान को आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश दिए। गनीगांव गरूड़ निवासी गोपाल प्रसाद ने पुत्री की दिव्यांग पेंशन लगाने की मांग रखी, जिस पर जिलाधिकारी ने समाज कल्याण अधिकारी को जल्द आवयक कार्यवाही के लिए निर्देशित किया। सुरेश पांडे ने बागेश्वर-सोमेश्वर-गिरेछीना मोटर मार्ग का नाम स्व. पत्रकार जगमोहन पांडे करने का मांग रखी, जिस पर जिलाधिकारी ने ईई लोनिवि को आवश्यक कार्यवाही हेतु निर्देशित किया। दयालगिरि निवासी मंडलसेरा की भनार तोक को जाने वाले रास्तों में प्रकाश व्यवस्था व मार्ग दुरूस्त रखने एवं  मीना देवी की नाले का पानी रास्तों से बहने से गंदा पानी घरों में आने की रखी समस्या पर जिलाधिकारी ने अधिशासी अधिकारी नगर पालिका को कार्यवाही के लिए निर्देश दिए।

लक्ष्मण सिंह निवासी गडेरा फूलई  ने आपदा से हुए नुकसान का मौका मुआयना कराते हुए लोगों की समस्याओं का समाधान कराने की मांग रखी, जिस पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी को आवश्यक कार्यवाही को निर्देशित किया। वही मंडलसेरा के भैरव दत्त पांडे, नयन सिंह खेतवाल, भुबन चन्द्र चौबे, योगेश पांडे व प्रताप सिंह ने सड़क मार्ग ठीक कराने की मांग रखी, जिस पर जिलाधिकारी ने संबंधित को आवश्यक कार्यवाही के लिए निर्देशित किया।

यह भी पढ़ें 👉  कार्यालय में सफाई का रखें विशेष ध्यान, कार्य के प्रति रहें संवेदनशील: डीएम

इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी आरसी तिवारी, अपर जिलाधिकारी एनएस नबियाल, अपर परियोजना निदेशक शिल्पी पंत, उपजिलाधिकारी मोनिका, जिला विकास अधिकारी संगीता आर्या, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ देवेश चौहान, मुख्य कृषि अधिकारी डॉ गीतांजलि बंगारी, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ कमल पंत, समाज कल्याण अधिकारी हेम तिवारी, पर्यटन अधिकारी पीके गौतम, ईई लोनिवि डीएस कुटियाल, जल संस्थान सीएस देवडी, जल निगम वीके रवि, सिंचाई केके जोशी, तहसीलदार दीपिका आर्या सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

Ad Ad Ad