24 घंटे में मिले 1590 कोरोना के मरीज 146 दिनों में सबसे अधिक 6 की मौत , 10-11 अप्रैल को मॉक ड्रिल राज्यों को टेस्टिंग बढ़ाने के निर्देश

ख़बर शेयर करें -

देश में सीजनल फ्लू के बढ़ते मामलों के बीच कोरोना के नए मामले बढ़ने से केंद्र से लेकर राज्यों के स्वास्थ्य महकमे फिर अलर्ट मोड में आ रहे हैं। केंद्र सरकार ने राज्यों की फिर से कोरोना की टेस्टिंग बढ़ाने के निर्देश दिए हैं।

बीते 24 घंटे में 146 दिनों में सबसे अधिक 1590 नए कोविड मरीज मिले हैं। इसी के साथ देश में कोविड के एक्टिव मरीजों की संख्या 8601 हो गई है। बीते शुक्रवार को 6 कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मौत हो गई। इनमें 3 महाराष्ट्र, और 1-1 मरीज को मौत उत्तराखंड, राजस्थान और कर्नाटक में हो गई।

एक बार फिर कोरोना की दो लहरों में सबसे अधिक प्रभावित रहे राज्यों महाराष्ट्र, केरल, कर्नाटक, दिल्ली और गुजरात में नए पॉजिटिव मरीज सबसे अधिक मिल रहे हैं। अगर ताजा हालात की बात करें तो कोरोना के नए मामलों में सबसे अधिक 26.4 फीसदी केरल, 21.7 फीसदी महाराष्ट्र,गुजरात 13.9 फीसदी शामिल हैं। कोरोना के नए सिरे से बढ़ते मामलों के बाद एक्शन में आए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने सभी राज्यों को पत्र लिखकर टेस्टिंग बढ़ाने और हालात पर कड़ी नजर रखने के निर्देश दिए हैं।

10 और 11 को देशव्यापी मॉक ड्रिल

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और आईसीएमआर की joint advisory के अनुसार अगले महीने 10 और 11 को देशभर में मॉक ड्रिल करने की तैयारी की है। मॉक ड्रिल के माध्यम से देशभर के सरकारी और निजी हॉस्पिटल्स की तैयारियों को परखा जाएगा। मॉक ड्रिल की फुल डिटेल्स राज्यों को 27 मार्च को मिलेगी।

हालांकि विशेषज्ञों की मानें तो लोगों को घबराने की बजाय कोविड प्रोटोकॉल का पालन करने की ज़रूरत है। इससे पहले 22 मार्च को बढ़ते कोरोना मामलों के चलते प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हाई लेवल की मीटिंग भी की थी जिसमें उन्होंने सर्विलांस,जीनोम टेस्टिंग तथा श्वास संबंधी बीमारियों से ग्रस्त मरीजों की टेस्टिंग बढ़ाने पर जोर दिया था।

यह भी पढ़ें 👉  बोलेरो और ट्रक की टक्कर, आठ लोगों की मौत