रिश्वत लेते हुए विधायक गिरफ्तार , विजिलेंस टीम ने हिरासत में लिया

ख़बर शेयर करें -

बिल पास करने की ऐवज में ली थी रिश्वत विजिलेंस टीम ने रंगे हाथों धरा।

पंजाब के बठिंडा से आम आदमी पार्टी (AAP) के विधायक अमित रतन कोटफत्ता को विजिलेंस ने 4 लाख रुपए रिश्वत लेते पकड़ा है। कोटफत्ता बठिंडा के सर्किट हाउस पहुंचे थे। गांव घुद्दा की महिला सरपंच के पति से पंचायत का बिल पास करने के बदले विधायक के PA रेशम सिंह ने यह रिश्वत ली थी।विजिलेंस टीम ने दोनों को ट्रैप कर हिरासत में ले लिया। पैसे विधायक की गाड़ी से बरामद हुए हैं।

सरपंच ने की थी शिकायत
शुरुआती जानकारी के मुताबिक गांव घुद्दा की सरपंच सीमा रानी के पंचायत के पैसे और ग्रांट फंसी हुई थी। जिसको लेकर विधायक के PA रेशम सिंह ने उनसे 4 लाख की रिश्वत मांगी थी। नियम के मुताबिक ब्लॉक डेवलपमेंट पंचायत अफसर यह राशि रिलीज करता था, लेकिन विधायक के कथित दबाव की वजह से वह पैसे नहीं दे रहा था।

ड्राइवर ने रिश्वत ली, विधायक वहीं मौजूद थे
जानकारी के मुताबिक PA रेशम सिंह ने रिश्वत की रकम लेकर गाड़ी में रख ली। उस वक्त विधायक कोटफत्ता गाड़ी से उतरकर कुछ लोगों से बातचीत कर रहे थे। विजिलेंस ने DSP संदीप सिंह की अगुआई में यह कार्रवाई की। गिरफ्तारी के दौरान PA रेशम सिंह ने भागने की भी कोशिश की। हालांकि उसे गिरफ्तार कर लिया गया। उसके बाद विधायक को भी टीम ने हिरासत में ले लिया। दोनों को सर्किट हाउस में बैठाकर पूछताछ की जा रही है।

यह भी पढ़ें 👉  ब्रेकिंग: सूर्यकुमार यादव बने टीम इंडिया के कप्तान, शुभमन गिल को उप कप्तान की जिम्मेदारी




पैसे देने वाले सरपंच के पति ने बताई पूरी कहानी…

इस बारे में सरपंच सीमा रानी के पति प्रितपाल कुमार ने कहा कि बीडीपीओ दफ्तर वाले हमें 4 साल से तंग कर रहे थे। हमने कभी इनको हिस्सा नहीं दिया था। इसके बाद हमने बठिंडा देहाती के विधायक अमित रतन कोटफत्ता को बताया।

हमने काम करवा रखे हैं, लेकिन रुपए पेंडिंग हैं। विधायक के पूछने पर बताया कि 25 लाख पेंडिंग हैं। दिवाली से पहले की बात है। इस पर विधायक ने पूछा कि हमें क्या दोगे?। हमने कहा कि आज तक किसी को पैसे नहीं दिए।

विधायक ने कहा कि ऐसा नहीं है, पैसा रिलीज करवाना है, काम करना है। गांव में तेरी इज्जत बनवानी है। तू जो मर्जी आगे लगाना। मैंने कहा कि काम पर पैसे तो पूरे लगाएंगे और आपको अपनी जेब से दे देंगे।

इस पर विधायक ने 5 लाख में पूरी पेमेंट रिलीज करवाने का सौदा कर लिया। इसके बाद परेशान कर 7-8 लाख की पेमेंट करवा दी। अब पेमेंट आई तो इन्होंने कहा कि हमारे पैसे दो। हमने कहा कि अभी पूरे पैसे नहीं मिले तो इन्होंने कहा कि हमें तो अभी पैसे दो। आज इन्होंने मुझसे ही पैसे लिए।

विधायक बोले- रेशम से कोई संबंध नहीं, वो मेरा PA भी नहीं

उधर विजिलेंस की ओर से हिरासत में लिए जाने के बाद AAP विधायक अमित रतन कोटफत्ता ने कहा कि उनका रेशम सिंह से कोई संबंध नहीं है। वह उनका पीए भी नहीं है। जिसने भी रिश्वत ली है, उसके खिलाफ तुरंत एक्शन लिया जाना चाहिए। अमित रतन ने कहा कि वह पुलिस प्रशासन से अपील करते हैं कि इस मामले की निष्पक्ष जांच की जाए।

यह भी पढ़ें 👉  चरस तस्करी मामले में एक और गिरफ्तारी, 10 जुलाई को दो लोग हुए थे गिरफ्तार