हल्द्वानी हिंसा के आरोपियों पर सरकार और प्रशासन हुआ सख्त, 5000 के खिलाफ केस दर्ज, जिन घरों से फेंके पत्थर, उन पर भी होगी कार्रवाई

ख़बर शेयर करें -

हल्द्वानी के बनभूलपुरा में हुई हिंसा के आरोपियों पर नकेल कसने लगी है। पुलिस ने 19 नामजद आरोपियों सहित 5000 अज्ञात लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। इस संबंध में कुल तीन एफआईआर दर्ज की गई है। 50 से ज्यादा लोगों को पुलिस ने हिरासत में लिया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है। जिला प्रशासन ने जिन घरों से पत्थर फेंके गए, उनके खिलाफ भी कार्रवाई करने की बात कही है। हल्द्वानी में इंटरनेट और स्कूल भी बंद हैं।
हल्द्वानी विकासखंड के स्कूल शनिवार (10 फरवरी) को भी बंद रहे। खंड शिक्षा अधिकारी हरेंद्र मिश्र ने बताया कि रविवार तक स्थितियों को देख निर्णय लिया जाएगा।
उत्तराखंड मुक्त विवि ने हल्द्वानी, हल्दूचौड़ और रामनगर केंद्रों में फिलहाल शनिवार को होने वाली परीक्षाएं स्थगित कर दी हैं। परीक्षा नियंत्रक प्रो. सोमेश कुमार ने बताया है कि संबंधित केंद्रों की स्थगित हुई परीक्षाएं जल्द कराई जाएंगी। अन्य केंद्रों पर निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार परीक्षा होगी। हल्द्वानी के बनभूलपुरा में हुए पथराव व आगजनी की घटना के बाद प्रदेश में हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। सुरक्षा के मद्देनजर हल्द्वानी के सभी विद्यालयों को बंद कर दिया गया है और इंटरनेट को भी बंद है। 
बता दें कि बीते दिन हल्द्वानी के बनभूलपुरा में सरकारी जमीन पर बने अवैध मदरसा व नमाज स्थल को ध्वस्त करने गई पुलिस, प्रशासन व नगर निगम की टीम पर लोगों ने पथराव कर दिया। इस दौरान उपद्रवियों ने बनभूलपुरा थाने में आग लगा दी। जमकर तोड़फोड़ और पत्थरबाजी की गई, जिसमें दर्जनों पुलिसवाले घायल हो गए।

यह भी पढ़ें 👉  उत्तराखंड में भी कांवड़ यात्रा रूट में ठेली और दुकानों पर लगानी होगी नेम प्लेट: सीएम धामी