जल्द बनेगा 200 बेड का अस्पताल, पांच हजार किसानों को मिलेगा ब्याज मुक्त ऋण: रावत, कैबिनेट मंत्री ने की शिक्षा, स्वास्थ्य की समीक्षा, पुस्तक का विमोचन भी किया

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। प्रदेश के चिकित्सा स्वास्थ एवं चिकित्सा शिक्षा, सहकारिता, उच्च शिक्षा, विद्यालयी शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत ने बुधवार को तहसील सभागार में चिकित्सा स्वास्थ एवं शिक्षा विभाग की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि जिले में जल्द 200 बैड का चिकित्सालय बनाया जायेगा। कलस्टर स्कूल और प्रत्येक ब्लॉक में दो-दो पीएमश्री विद्यालय बनाए जाएंगे।

मंत्री रावत ने कहा कि जनपद में पांच हजार किसानों को पांच लाख तक का ब्याज मुक्त ऋण दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि स्वास्थ सुविधओं को और सुदृढ करने हेतु चार से पांच लाख देकर इच्छुक विशेषज्ञ चिकित्सकों की तैनाती की जायेगी। प्रत्येक चिकित्सालय में चिकित्सकों के लिए आवास बनायें जाएंगे, ताकि चिकित्सक चिकित्सालय के नजदीक रहते हुए चौबीस घंटे उपलब्ध रह सके। उन्होंने 16 एएनएम व 21 वार्डवॉय स्थानीय स्तर से ही रखने के निर्देश मुख्य चिकित्सााधिकारी को दिए। उन्होंने कहा 18 सीएचओ व 12 नर्स 15 अगस्त तक तैनात किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश देश का पहला ऐसा राज्य है, जिसके सभी चिकित्सालयों में एमबीबीएस चिकित्सकों की तैनाती है। उन्होंने कहा विशेषज्ञ चिकित्सकों का अलग कैडर बनाया जायेगा। उनकी सेवा अवधि भी 65 वर्ष होगी। उन्होंनें लिंगानुपात शत-प्रतिशत करने के निर्देश देते हुए प्रत्येक गर्भवती महिला को टेस्ट करते हुए पंजीकरण करने के निर्देश दिए, साथ ही प्रसव से एक सप्ताह पूर्व गर्भवती महिला को चिकित्सालय में अनिवार्य रूप से रखने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा चिकित्सालय में बैड की उपलब्धता न होने पर होटल अथवा होम स्टे में गर्भवती महिला को रखा जाए, जिसका पूरा व्यय सरकार उठायेगी, ताकि शत-प्रतिशत गर्भवती महिलाओं को संस्थागत प्रसव सुनिश्चित हो सके। इजा बोई योजना और महालक्ष्मी किट का तुरंत लाभ दिया जाए। उन्होंने वर्षाकाल के बाद प्रत्येक गांव स्तर पर रोस्टर के अनुसार स्वास्थ चौपाल लगाकर योजनाओं की जानकारी ग्रामीणों को देने के निर्देश दिए। चौपाल में जनप्रतिनिधियों को भी अवश्य आमंत्रित किया जाय।

स्वास्थ मंत्री ने क्षय व कुष्ठ रोग, अंधता निवारण के साथ ही डायलिसिस, जनपद में तैनात 108, एंबुलेंस, खुशियों की सवारी आदि की विस्तृत जानकारी लेते हुए हार्ट के मरीजों को चिकित्सालय तक लाने के लिए रिस्वांस टाइम 20 मिनट से कम करने के लिए जिलाधिकारी व सीएमओ को रणनीति बनाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि डायलिसिस के लिए और मशीनें उपलब्ध करायी जायेगी। डायलिसिस मरीजों को चिकित्सालय तक लाना व ले जाना मुफ्त होगा। उन्होंने कहा कि राज्य को 2025 तक ड्रग्स मुक्त व 2030 तक नशा मुक्त बनाने का लक्ष्य है, इसलिए तंबाकू-नशा मुक्त के लिए अभियान चलाया जाए व 40 लाख लोंगो व बच्चों को इसकी शपथ दिलाई जाय। उन्होंने कहा कि सभी चिकित्सालय में एंटी रैबीज व एंटी स्नेक वैक्सीन की उपलब्ध अनिवार्य रूप से सुनिश्चित की जाए। उन्होंने कहा कि चिकित्सा भवन व चिकित्सकों के आवास निर्माण को भूमि चयनित करें, इसके लिए शीघ्र धनराशि उपलब्ध करायी जायेगी। उन्होंने कहा कि कैंप लगाकर शत-प्रतिशत लोंगो के आयुष्मान कार्ड बनायें जाय, ताकि सभी लोंगो को इसका लाभ मिल सके। अधिक से अधिक लोंगो को रेडक्रास के माध्यम से जोडने के निर्देश जिलाधिकारी व सीएमओ को दिए।
मंत्री रावत ने कहा कि प्रत्येक ब्लॉक में कलस्टर स्कूल बनायें जाएंगे, जिनके भवन एक से दो करोड तक के बनायें जाएंगे, जिनमें पांच शिक्षकों की तैनाती की जायेगी, तथा वहां पढने वाले बच्चों को 22 रूपयें प्रति किमी कन्वेंस दिया जायेगा। कक्षा 6 से 12 तक के बच्चों को 60 प्रतिशत अंक लाने पर कक्षा के अनुरूप छात्रवृत्ति दी जायेगी। बच्चों को अतिरिक्त क्रियाकलापों के लिए भी 50 अंक इंटरनल दिए जाएंगे तथा 15 दिन में एक दिन विद्यालय बस्ता फ्री होगा, साथ ही बच्चों के बस्तों का वजन कम करने के लिए प्रत्येक विद्यालयों में बुक बैक स्थापित होगा। बच्चों को विद्यालय में वेद, रामायण व स्थानीय भाषाओं का भी ज्ञान दिया जायेगा। उन्होंने कहा असहाय गरीब बच्चों को कक्षा 12 तक शिक्षा के साथ ही रहना-खाना सरकार द्वारा मुफ्त दिया जायेगा। प्रदेश में अभी तक 900 बच्चों का प्रवेश विभिन्न विद्यालयों में कराया गया है। उन्होंने कहा कि डिग्री कॉलेज काण्डा में विज्ञान संकाय भवन और गरूड महाविद्यालय में लाइब्रेरी भवन बनाया जायेगा। उन्होंने कहा एक सप्ताह के भीतर सभी डिग्री कॉलेज में स्थायी प्राचार्यो की तैनाती कर दी जायेगी। शिक्षा मंत्री ने डायट द्वारा लिखित भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन में बागेश्वर का योगदान नाम पुस्तिका का विमोचन भी किया।

यह भी पढ़ें 👉  नंदन अलमियां को अध्यक्ष, दीपक पाठक को चुना गया प्रबंधक

जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने अतिथियों का आभार प्रकट करते हुए कहा कि जो भी निर्देश कैबिनेट मंत्री ने दिए गए है उनका अनुपालन सभी अधिकारी सुनिश्चित करेंगे।
समीक्षा बैठक में जिला पंचायत अध्यक्ष बंसती देव, जिलााध्यक्ष भाजपा इन्द्र सिंह फस्र्वाण, पूर्व कबीना मंत्री बलवंत सिंह भौर्याल, ब्लॉक प्रमुख हेमा बिष्ट, पुष्पा देवी, विक्रम शाही, कुन्दन सिंह परिहार, पुष्कर काला सहित मुख्य विकास अधिकारी आरसी तिवारी, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ डीपी जोशी, मुख्य शिक्षा अधिकारी जीएस सौन, एआर कोऑपरेटिव प्रेम प्रकाश सहित संबंधित अधिकारी व चिकित्सक मौजूद थे। 

यह भी पढ़ें 👉  सड़क हादसे में दो महिलाओं की मौत, चार लोग घायल