विश्व पर्यावरण दिवस पर एनयूजे ने किया पौधरोपण

ख़बर शेयर करें -

हरिद्वार/बागेश्वर। नेशनलिस्ट यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स (एनयूजे उत्तराखण्ड) ने हरिद्वार सहित प्रदेश के अलग-अलग स्थानों में विश्व पर्यावरण दिवस पर वृहद पौधरोपण किया।
हरिद्वार में हुए कार्यक्रम में अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष श्रीमहंत रविद्रपुरी के सानिध्य में रूद्राक्ष, आंवला, अमरूद, शहतूत, मोलसरी, आंवला, आदि विविध प्रजातियों के पौधे रोपे गये। पौधारोपण कार्यक्रम का शुभारंभ करते सर्वप्रथम पीपल का पौधा रोपा। महंत रविंद्रपुरी ने पौधारोपण का महत्व बताते हुए कहा कि पृथ्वी पर लगातार प्रदूषित हो रहे पर्यावरण के संरक्षण के लिए लोगों का जागरूक होना जरूरी है। उन्होंने कहा कि एक बार पौधारोपण कर लोग उनके संरक्षण और देखभाल के प्रति लापरवाह हो जाते हैं। जिस कारण वे सुरक्षित नहीं रह पाते। उन्होंने कहा कि जरूरी है कि पौधारोपण करने के बाद उन्हें ट्री गार्ड लगा कर सुरक्षा की व्यवस्था की जाय। उन्होंने नेशनलिस्ट यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स द्वारा पर्यावरण संरक्षण और सामाजिक जागरूकता के लिए प्रतिवर्ष किये जा रहे पौधारोपण कार्यक्रमों की प्रशंसा की। यूनियन के संस्थापक एवं संरक्षक त्रिलोक चन्द्र भट्ट ने कहा कि विकास और मानव आवश्यकताओं के नाम पर जिस पर वनों का दोहन हुआ है उससे पर्यावरण को काफी नुकसान पहुंचा है। कहा कि वृहद स्तर पर पौधे रोपे जाने के बाद सुरक्षा के अभाव में केवल दस प्रतिशत पौधे ही अपनी पूर्णता को प्राप्त कर पाते हैं। उन्होंने पौधारोपण में आम लोगों की अधिकाधिक सहभागिता की जरूरत बतायी।
इससे पूर्व गिलोय लगाओ अभियान के तहत नेशनलिस्ट यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स के अनुशांगिक संगठन एनयूजे मीडिया वेलफेयर फाउंडेशन ट्रस्ट द्वारा भेल के सामाजिक वानिकी क्षेत्र के जंगल में गिलोय के पौधों का भी रोपण किया गया। बागेश्वर में एनयूजे के जिला सचिव संजय साह जगाती के नेतृत्व में देवकी लघु वाटिका में पौधरोपण हुआ।एनयूजे के पूर्व जिलाध्यक्ष जगदीश उपाध्याय,मोहिउद्दीन अहमद तिवारी आदि मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  अब सीटी स्कैन के लिए नहीं लगानी पड़ेगी बाहरी जिलों की दौड़, जिला अस्पताल में हुआ सीटी स्कैन मशीन का शुभारंभ