सांसद अजय टम्टा ने विकास कार्यों की समीक्षा की, सड़कों महकमों के कार्यों को लेकर जताई नाराजगी

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। विकास भवन सभागार में जिला विकास समन्वय एवं निगरानी समिति (दिशा) की बैठक लेते हुए सांसद अजय टम्टा ने कहा कि वर्षाकाल चल रहा है,आपदा से बंद सड़कें कम से कम समय में खोली जाएं। उन्होंने केंद्र सरकार की योजनाओं में त्वरित कार्य कर पूर्ण करने के निर्देश दिए।
सांसद टम्टा ने आपदाग्रस्त सभी बंद सडकें तत्काल खोलने के निर्देश देते हुए प्रधानमंत्री आवासों को सभी सुविधाओं से लैस करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने जल जीवन मिशन कार्यो की समीक्षा करते हुए कहा कि मार्च 2024 तक जल जीवन मिशन के सभी कार्य पूर्ण कर लिए जाए, इसके लिए जरूरत पडने पर अतिरिक्त मानव संसाधन लगाये जाय। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने जल जीवन मिशन योजना में अब तक 336 करोड़ अवमुक्त किए गए है, शेष धनराशि भी अवमुक्त की जायेगी, इसलिए कार्यो में तेजी लाये। इसी तरह राष्ट्रीय राजमार्ग अल्मोड़ा से कनगाडछीना- बिलौना, काण्डा होते हुए उडियारीबैंड तक चौडीकरण के लिए 15 सौ करोड़ की धनराशि स्वीकृत करते हुए अवमुक्त भी कर दी गयी है। उन्होंने एनएच के अधिकारियों को कार्य जल्द से जल्द पूर्ण कराने के निर्देश भी दिए।

सांसद टम्टा ने कहा कि 2024 तक भारत को टीबी मुक्त करना हैं। जिसके लिए जन सहभागिता अति आवश्यक है। उन्होंने विभागीय अधिकारियों से कहा कि जन कल्याणकारी योजनाओं का प्रचार-प्रसार कर समाज के अंतिम छोर पर खडे व्यक्ति को लाभान्वित करना सुनिश्चित करें। उन्होंने खाद्य विभाग की समीक्षा करते हुए उच्च क्षेत्रों में खाद्यान्न आपूर्ति के साथ ही गोदामों की स्थिति व मिड-डे मील की भी जानकारी ली। स्वास्थ विभाग की समीक्षा करते हुए उन्होंने सीएमओ को जनपद में स्वास्थ सुविधायें और बेहतर करने के निर्देश देते हुए 108 सेवा की नियमित मॉनिटरिंग करने को कहा। सांसद ने समाज कल्याण की समीक्षा करते हुए सभी प्रकार के पेंशनरों की जानकारी ली।

उन्होंने सड़क महकमों की समीक्षा करते हुए वैपकॉस द्वारा कार्यो की धीमी गति होने पर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए भविष्य में वैबकॉस को कार्य न दिए जाने संबंधी पत्र शासन को लिखने के निर्देश मुख्य विकास अधिकारी को दिए। उन्होंने पीएमजीएसवाई को निर्देश दिए कि पांच वर्ष पूर्व पूर्ण हुए सभी सडकों को शीघ्रता से लोनिवि को हस्तांतरण करने के निर्देश दिए,साथ ही ईई लोनिवि को पीएमजीएसवाई से हस्तांतरित सड़कों की मरम्मत प्रस्ताव आगणन शासन को भेजने के निर्देश भी दिए। उन्होंने बागेश्वर-धारी-डोबा-गिरेछीना सड़क मार्ग की गुणवत्ता के साथ ही नालियां न बनाने, सड़क किनारे लगत तरीके से टाइल लगाने के साथ ही सडक किनारे क्रैश वैरियर न लगाने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए अवशेष धनराशि अवमुक्त न किए जाने के निर्देश भी दिए। साथ ही उन्होंने जनपद में पीएमजीएसवाई के सभी खंडों के कार्यो की सूची भी तलब की। विद्युत विभाग के कार्यो की समीक्षा करते हुए उन्होंने जनपद में सुचारू विद्युत आपूर्ति करने के निर्देश दियें। उन्होंने कृषि व उद्यान अधिकारी को आर्गेनिक व पारंपरिक खेती के साथ ही मिलेट को बढावा देने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें 👉  इंटरमीडिएट के छात्र को गुलदार ने बनाया निवाला, देर रात मिला क्षत विक्षत शव

सांसद टम्टा ने प्रधानमंत्री आवास योजना, राष्ट्रीय स्वास्थ मिशन, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना , राष्ट्रीय कृषि विकास योजना, दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण ज्योति योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, बेटी बचाओ-बेटी पढाओ, प्रधानमंत्री मातृ वंदन योजना, श्याम प्रसाद मुखर्जी राष्ट्रीय रूर्बन मिशन, महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी योजना, परंपरागत कृषि विकास योजना, मृदा स्वास्थ कार्ड, सर्व शिक्षा अभियान, समेकित बाल विकास योजना, स्वच्छ भारत मिशन, डिजिटल भारत भू-अभिलेख, प्रधानमंत्री आदर्श ग्राम योजना के साथ ही संचार सेवा आदि की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी वर्षाकाल में अलर्ट मोड पर रहे, किसी भी आपदा के समय आपसी समन्वय कायम करते हुए त्वरित कार्यवाही करें तथा अपना फोन 24 घंटे खुला रखें। विधायक सुरेश गढ़िया ने अधिकारियों को विकास कार्य समय पर पूरा करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें 👉  नंदन अलमियां को अध्यक्ष, दीपक पाठक को चुना गया प्रबंधक

जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने सभी अधिकारियों को निर्देश दिए कि बैठक मे दिए गए निर्देर्शो का पालन करते हुए किसी भी आपदा से निपटने के लिए अलर्ट मोड पर रहे। आपदा से हुए परिसंपत्तियों के नुकसान की तुरंत सूचना देते हुए आगणन प्रस्तुत करने के निर्देश भी दिए। 

बैठक में अध्यक्ष जिला पंचायत बसंती देव, ब्लॉक प्रमुख  पुष्पा देवी, हेमा बिष्ट, गोविन्द सिंह दानू, जिलाध्यक्ष भाजपा इन्द्र सिंह फस्र्वाण, पूर्व शिव सिंह बिष्ट, जिला पंचायत सदस्य जनार्जन लोहनी, महामंत्री संजय परिहार सहित मुख्य विकास अधिकारी आरसी तिवारी, परियोजना निदेशक शिल्पी पंत, जिला विकास अधिकारी संगीता आर्या, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. डीपी जोशी आदि मौजूद रहे।