जनता दरबार में 32 शिकायतें हुई दर्ज, आठ का मौके पर हुआ निस्तारण

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। जिलाधिकारी अनुराधा पाल की अध्यक्षता में लगे जनता दरबार में 32 शिकायतें दर्ज हुईं, आठ शिकायतों का मौके पर ही समाधान किया गया। डीएम ने अधिकारियों को अन्य शिकायतों का जल्द निस्तारित करने के निर्देश दिये।
जनता दरबार में प्रकाश सिंह व हरी सिंह ने लोक निर्माण विभाग द्वारा उड़लगॉव सड़क सर्वे पर आपत्ति दर्ज करते हुए कहा कि जनता को विश्वास में लिये बिना सड़क सर्वे का आरोप लगाते हुए अत्यधिक निजी भूमि कटने की शिकायत की। जिलाधिकारी ने लोनिवि अभियन्ता को दुबारा सड़क की सर्वे कराने के निर्देश दिये। सोराग वासियों ने पीएमजीएसवाई द्वारा सड़क निर्माण से पैदल रास्ते व पेयजल की ध्वस्त लाइन की ठीक कराने, सड़क से मलबा हटाने, टूटी दीवारों को ठीक कराने और वेबकास से पिंडर नदी पर पुल का निर्माण कराने की मांग की। चन्द्र प्रकाश ने कांडाधार में उनकी भूमि पर जल संस्थान द्वारा निर्मित चैम्बर से पानी रिसाव होने के कारण हो रहे भू-कटाव की शिकायत की। जिलाधिकारी ने ईई जलसंस्थान को भूकटाव रोकने के लिए तुरंत कार्यवाही करने के निर्देश दिए। गोपाल सिंह ने राशन कार्ड न बनने के शिकायत की। जिलाधिकारी ने तुरंत राशनकार्ड बनाने के निर्देश जिला पूर्ति अधिकारी को दिये। विनोद जोशी ने लघु सिंचाई पंप चलाने के उपरांत भी 2020 से अभी तक मानदेय न दिये जाने की शिकायत की। डीएम ने ईई को एक सप्ताह के अन्दर मानदेय भुगतान कर अवगत कराने के निर्देश दिये। हयात सिंह और ग्रामीणों ने स्वीकृत साता प्यारा मोटर मार्ग का जल्द निर्माण कराने, कमला देवी, सुनीता देवी, गोदावरी देवी ने प्रधानमंत्री आवास दिलाने, गोकुल परिहार ने बालीघाट-पन्द्रहपाली की सड़क की हालत खराब होने की बात कहते हुए सड़क की टूटी दीवारों व गढडों का मरम्मत कराने की मांग की। जनता दरबार जिला विकास अधिकारी संगीता आर्या, मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. डीपी जोशी, उप जिलाधिकारी हरगिरी, मुख्य शिक्षा अधिकारी जीएस सौन, जिला उद्यान अधिकारी आरके सिंह, महाप्रबंद्यक उद्योग जीपी दुर्गापाल, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. आर चन्द्रा, जिला पर्यटन अधिकारी कीर्ति आर्या, जिला पूर्ति अधिकारी मनोज बर्मन आदि मौजूद थे।

Ad Ad Ad Ad