जोशीगांव में बरामद हुए शवों के मामले में बोले पुलिस अधीक्षक, आर्थिक तंगी से जूझ रहा था परिवार घटनास्थल से मिला 6 पन्ने का सोसाइड नोट

ख़बर शेयर करें -


बागेश्वर। बीते दिनों कोतवाली बागेश्वर के जोशी गांव में बंद कमरे से एक महिला व तीन बच्चों के शव मिलने सम्बन्धी मामले पर पुलिस अधीक्षक बागेश्वर महोदय द्वारा की प्रेस वार्ता पुलिस अधीक्षक हिमांशु वर्मा ने बताया कि गुरूवार को गोविन्द सिंह बिष्ट निवासी जोशी गांव घिरौली, मण्डलसेरा बागेश्वर ने थाना कोतवाली बागेश्वर को सूचना दी कि उनके घिरौली मण्डलसेरा बागेश्वर स्थित मकान जिसमें भूपाल राम पुत्र श्री हरीश राम निवासी-ग्राम-भनार तोक, घटबगड़ थाना-कपकोट, जिला-बागेश्वर अपने परिवार के साथ किराए पर निवास करता है।आसपास के व्यक्तियों द्वारा उन्हें फोन पर बताया कि उनके मकान के अंदर से तेज दुर्गन्ध आ रही है और दरवाजे बन्द हैं। सूचना पर प्रभारी निरीक्षक कोतवाली बागेश्वर अपने उच्चाधिकारियों को सूचित कर मय फोर्स के मौके पर घटना स्थल पहुंचे तो मकान के दरवाजे अंदर से बन्द मिले आस-पास के व्यक्तियों के समक्ष दरवाजा तोड़कर अंदर गये तो कमरे में एक महिला व तीन बच्चों के शव सड़ी गली अवस्था में मिले।जिनकी पहचान नंदी देवी पत्नी भूपाल राम (38)अंजली पुत्री भूपाल राम (14) कृष्णा पुत्र भूपाल राम (7)भास्कर पुत्र भूपाल राम (1) निवासीगण ग्राम-भनार तोक, घटबगड़, थाना कपकोट, जिला- बागेश्वर के रुप में हुई। मौके पर शवों को पुलिस कब्जे लेकर जिला चिकित्सालय मोर्चरी भिजवाया गया। शुक्रवार को मृतकों के परिजनों के आने पर पंचायतनामा व पोस्टमार्टम की कार्यवाही की गयी । पुलिस अधीक्ष के निर्देशन में व पुलिस उपाधीक्षक बागेश्वर के पर्यवेक्षण/नेतृत्व में प्रभारी निरीक्षक कोतवाली बागेश्वर मय पुलिस टीम द्वारा घटना स्थल का पुनः बारीकी से निरीक्षण किया गया निरीक्षण के दौरान जिस बिस्तर पर मृतका अंजली लेटी पाई गयी थी ठीक उसी जगह बिस्तर के नीचे चटाई के ऊपर फोल्ड़ किए 06 पन्ने सोसाइड नोट जो उनके आत्महत्या करने के विषयक प्राप्त हुआ। जिसमें परिवार के सामने आई आर्थिक तंगी को भूपाल राम द्वारा लिए गए कर्ज जिस कारण परिवार के लोगों को लगातार प्रताड़ना झेलनी पड़ती थी । जिसे मौके पर उपस्थित गवाहों के समक्ष कब्जे पुलिस लेकर सील किया गया। तथा कमरे से एक पारदर्शी पन्नी में पाउडरनुमा राख जैसा पदार्थ जिसमें कीटनाशक सल्फास जैसी गन्ध आ रही है को भी गवाहों के समक्ष पुलिस द्वारा सील किया गया।निरीक्षण के दौरान कमरे से बरामद उपरोक्त सुसाइड नोट वास्ते लेख मिलान तथा कीटनाशक पदार्थ को परीक्षण हेतु विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजा जा रहा है।शुक्रवार को मृतका नंदी देवी के देवर श्री मनोहर राम पुत्र हरीश राम निवासी ग्राम-भनार तोक, घटबगड़ थाना कपकोट जिला बागेश्वर द्वारा दी गयी तहरीर के आधार पर थाना कोतवाली बागेश्वर में मुकदमा संख्या 27/23 धारा 306 का अभियोग पंजीकृत किया गया।विवेचना थानाध्यक्ष कपकोट श्री कैलाश सिंह बिष्ट के सुपुर्द की गयी।

यह भी पढ़ें 👉  सड़क हादसे में दो महिलाओं की मौत, चार लोग घायल