तहसील दिवस में ग्रामीणों ने दर्ज कराई 22 शिकायतें, डीएम ने दिए समस्याओं का त्वरित निदान करने के निर्देश

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। जिलाधिकारी अनुराधा पाल की अध्यक्षता में जनपद के दूरस्थ क्षेत्र उप तहसील शामा में मंगलवार को तहसील दिवस आयोजित हुआ।

तहसील दिवस में 22 जन समस्यायें पंजीकृत हुई, जिसमें से 10 समस्याओं का जिलाधिकारी द्वारा मौके पर ही निस्तारण किया गया, शेष 12 शिकायतों का निस्तारण संबंधित अधिकारियों को त्वरित करने अथवा उच्च स्तर को धनावंटन के लिए प्रेषित करने के निर्देश दिए।

क्षेत्र पंचायत सदस्य भनार रवीन्द्र सिंह ने शामा के बीएसएनएल टॉवर 20 दिनों से खराब होने से भनार-माजखेत क्षेत्र में फोन नेटवर्क न होने की समस्या से अवगत कराया, जिस पर जिलाधिकारी ने एसडीओ बीएसएनएल को तुरंत निरीक्षण कर नेटवर्क सुचारू करने के निर्देश दिए। रवीन्द्र सिंह गत दिनों हुई वर्षा से भनार में मकान क्षतिग्रस्त होने के साथ ही भू-कटाव होने की शिकायत की, जिस पर जिलधिकारी ने उपजिलाधिकारी को तुरंत जांच सर्वे कर आपदा में प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। क्षेत्र पंचायत सदस्य प्रवीण सिंह कोरंगा ने बागेश्वर-कपकोट-तेजम मोटरमार्ग में वैपकॉस द्वारा सीरी मोटर मार्ग में किमी चार पर अभी तक पुल निर्माण न किए जाने, सड़क की नालियां न बनाने, मोड कटिंग न करने, सडक निर्माण से ध्वस्त गौचर पुस्ते न बनायें जाने, डामरीकरण की गुणवत्ता खराब होने के साथ ही मानकों के अनुसार सडक कटिंग न होने की शिकायत की, जिस पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकारी, ईई लोनिवि की समिति गठित कर तुरंत जांच करने के निर्देश मौके पर दिए। साथ ही प्रवीण सिंह कोरंगा ने स्वतंत्रता संग्राम सेनानी स्व0 गोपाल सिंह मार्तोलिया के घर के पास स्टील गडर पुल के दोनों ओर ध्वस्त सडक का निर्माण करने, सीरी में ट्रांसफार्मर लगाने, सीरी मोटर मार्ग में मोधो सिंह के घर के पास धस रही सडक पर सुरक्षा दीवार बनाने का अनुरोध किया, जिस पर जिलाधिकारी ने तुरंत ट्रांसफार्मर बदलने के निर्देश अभियंता विद्युत को दिए, सहायक अभियंता ने अवगत कराया कि प्रस्ताव भेजा गया है। इसी तरह मोधो सिंह के घर के पास ध्वस्त हुई सडक की सुरक्षा दीवार का प्रस्ताव शीघ्र प्रस्तुत करने के निर्देश ईई को दिए। क्षेत्र पंचायत सदस्य प्रवीण सिंह कोरंगा ने शामा तहसील में अधिकारी व कर्मचारी आवास बनाने का अनुरोध किया, जिस पर जिलाधिकारी ने बताया कि प्रस्ताव शासन को पूर्व में ही भेजा गया है। बीडीसी सदस्य ने सीरी-हरसिंघाबगड मोटर मार्ग के किमी नौ पर सडक धसने से वीरेन्द्र सिंह, रवीन्द्र सिंह के आवासीय भवन को खतरा होने की बात कहते हुए सुरक्षा दीवार लगाने का अनुरोध किया, जिस पर जिलाधिकारी ने ईई पीएमजीएसवाई को तुरंत सर्वे कर आपदा मद में प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। बीडीसी सदस्य ने शामा-लीती में तैनात एएनएम के सेवानिवृत्त होने की बात करते हुए शामा व भनार में नियमित एएनएम की तैनाती का अनुरोध किया, जिस पर अपर मुख्य चिकित्साधिकारी ने बताया कि शीघ्र ही उन्हें 16 एएनएम मिल रही है, दोनों स्थानों पर एएनएम की तैनाती की जायेगी। बीडीसी सदस्य ने नैकाना के उपराली व सीरी के भैसोडी गधेरे में पुल की मांग रखी, जिस पर जिलाधिकारी ने ईई लोनिवि व ग्रामीण निर्माण विभाग को सर्वे कर प्रस्ताव प्रस्तुत करने के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें 👉  डीएम ने दिए जंगल जलाने वाले अराजक तत्वों के खिलाफ कठोर कार्रवाई करने के निर्देश

प्रधान भनार ने खडलेख-भनार मोटर मार्ग पर कॉजवे या पुलिया बनाने की मांग रखी, जिस पर ईई पीएमजीएसवाई ने बताया कि तृतीय चरण में रखा गया है, जिलाधिकारी ने जनता की समस्या को देखते हुए तात्कालिक तौर पर कॉजवे के स्थान पर खडंजा बनाने के निर्देश दिए। प्रधान भनार ने नैकाना में सडक निर्माण से स्लाइडिंग जोन बनने से अनु जाति के छ: परिवारों के घरों में दरारे आने व खतरा बताते हुए समाधान की मांग की, जिस पर जिलाधिकारी ने उपजिलाधिकरी व ईई लेानिवि, पीएमजीएसवाई को तुरंत जांच कर आंख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिए, साथ ही परिवारों को विस्थापित करने की जरूरत है तो आंख्या प्रस्तुत करने के निर्देश दिए। प्रधान भनार व क्षेत्रवासियों ने क्षेत्र में मोबाइल नेटवर्क न होने की शिकायत की, जिस पर जिलाधिकारी ने बताया कि कपकोट क्षेत्र में बीएसएनएल के 29 टॉवर स्वीकृत हो गयें, जिन्हें भूमि प्रशासन द्वारा उपलब्ध करा दी गयी है, शीघ्र ही टॉवर निर्माण कार्य प्रारंभ हो रहा है। उन्होंने जनप्रतिनिधियों व जनता से टॉवर कार्य टीम को सहयोग करने की अपील की। बडीपन्याली के ग्रामीणों ने पीएमजीएसवाई द्वारा निर्माणाधीन सडक का कार्य रोकने तथा सडक पर मलवा व दीवारे न बनाने की शिकायत की, जिस पर एई ने बताया कि सडक के मरम्मत और

यह भी पढ़ें 👉  अपडेट: सड़क हादसे के मृतकों की हुई शिनाख्त, दुग नाकुरी के ही हैं सभी मृतक

डामरीकरण का प्रस्ताव भेजा गया है। जिलाधिकारी ने तुरंत सडक पर आये मलवे का हटाने के निर्देश दिए, इसी तरह बडीपन्याली के ग्रामीणों द्वारा बिना विद्युत मीटर के देखे विद्युत बिल अधिक आने की शिकायत की, जिस पर जिलाधिकारी ने एसडीओ विद्युत को तुरंत विद्युत बिल ठीक करने के साथ ही नियमित विद्युत मीटर चैकिंग कर ही बिल देने के निर्देश दिए।

जिलाधिकारी ने कहा वर्षाकाल चल रहा है, सभी अधिकारियों अलर्ट मोड पर रहें। उन्होंने जनप्रतिनिधियों व जनता से भी आपदा की सूचनायें कंट्रोल रूम व संबंधित अधिकारियों को देने की अपील की। उन्होंने निर्देश दिए कि आपदा काल में अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों में भ्रमण कर आपदा में ध्वस्त परिसंपित्तायों का आकलन बनाकर तुंरत प्रस्तुत करें।

तहसील दिवस में उपजिलाधिकारी मोनिका, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ हरीश पोखरिया, मुख्य कृषि अधिकारी गीतांजलि बंगारी, जिला उद्यान अधिकारी आरके सिंह, अधि.अभि. जल संस्थान सीएस देवडी, ग्रामीण निर्माण विभाग रमेश चन्द्रा, सिंचाई पीएस बिष्ट, लघु सिंचाई विमल सुंठा, पीएमजीएसवाई विजय कृष्ण, लीड बैंक अधिकारी एनआर जौहरी, जिला पूर्ति अधिकारी मनोज बर्मन, खेल अधिकारी सीएल वर्मा, प्रभारी सीवीओ डॉ कमल पंत, डीपीओ अनुलेखा बिष्ट, समाज कल्याण अधिकारी हेम तिवारी, युवा कल्याण अधिकारी अर्जुन सिंह रावत, खंड शिक्षा अधिकारी चक्षुपति अवस्थी सहित अनेक अधिकारी मौजूद थे।