बागेश्वर उपचुनाव की सरगर्मी तेज आप नेता बसंत कुमार ने ठोकी ताल, कांग्रेस से प्रत्याशी खड़ा न करने की अपील की

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। कैबिनेट मंत्री चंदन राम दास के निधन से रिक्त चल रही बागेश्वर विधानसभा सीट पर उपचुनाव होना है जिसे लेकर सरगर्मी तेज हो गई है। 2022 में आम आदमी पार्टी से विधानसभा का चुनाव लड़ चुके बसंत कुमार ने कहा है कि वह बागेश्वर सीट पर होने वाले उप चुनाव में चुनाव मैदान में उतरेंगे। कहा कि वह किस पार्टी से चुनाव लड़ेंगे, यह समय आने पर बताएंगे। उन्होंने कांग्रेस से अनुरोध किया कि वह अपना प्रत्याशी खड़ा न करे।

रविवार को एक होटल में पत्रकार वार्ता में बसंत कुमार ने कहा कि 2022 के विधानसभा चुनाव में उन्हें इस सीट पर 16 हजार से ज्यादा वोट मिले थे। चुनाव के एक वर्ष के अंतराल में उनके पिता का निधन हो गया। उनकी इच्छा थी कि वह बागेश्वर की जनता की सेवा करें। उनकी माता बीमार हैं और इन विपरीत परिस्थितियों में भी उप चुनाव में उतरने के लिए तैयार हैं। उन्होंने दावा किया कि सोशल मीडिया में की रायशुमारी में क्षेत्र की जनता भी चाहती है कि वह उप चुनाव लड़ें। बसंत कुमार ने कहा कि काबीना मंत्री चंदन राम दास का आकस्मिक निधन होना दुर्भाग्यपूर्ण रहा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस बड़ा दिल दिखाए और उन्हें समर्थन दे। कहा कि यहां चुनावी समर में कांग्रेस का प्रत्याशी होने पर लगातार चार बार यह सीट भाजपा की झोली में गई है। बसंत कुमार ने कहा कि वह किस पार्टी से चुनाव लड़ेंगे, यह समय आने पर बताएंगे।

यह भी पढ़ें 👉  इंटर में ललित रहे टॉपर, हाईस्कूल में निकिता, अंकित, हर्षित ने किया टॉप