स्कूल के बाथरूम की छत गिरने से छात्र की मौत, तीन बच्चे घायल, मुख्यमंत्री ने दिए घटना की मजिस्ट्रीयल जांच के निर्देश (वीडियो)

ख़बर शेयर करें -


चम्पावत। चम्पावत के पाटी विकासखंड के प्राथमिक विद्यालय मोनकांडा के बाथरूम की छत गिरने से एक छात्र की मौत हो गई। हादसे में तीन बच्चे घायल हुए हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने घटना पर दुख जताते हुए मजिस्ट्रीयल जांच के आदेश दे दिए हैं। उन्होंने प्रदेश के सभी सरकारी स्कूलों का निरीक्षण कर जर्जर भवनों की मरम्मत करने के भी निर्देश दिए।


मिली जानकारी के अनुसार चंपावत के पार्टी विकासखंड के मोनकांडा प्राथमिक विद्यालय के बाथरूम की छत आज सुबह भरभरा कर गिर गई जिससे उसके नीचे दबने से 8 वर्षीय कक्षा 3 के छात्र चंदन सिंह की मौत हो गई जबकि हादसे में तीन अन्य छात्र सोनी, रिंकू एवं शगुन गंभीर रूप से घायल हो गए। बताया जा रहा है कि विद्यालय की छत पहले से ही काफी जर्जर हालत में थी और आज वह इन छात्रों के ऊपर आ गिरी। अपने बच्चे का शव देखकर उसकी हेमा बेसुध हो गई। वह एक टक लगाकर अपने मासूम की लाश को देखती रही। वहीं घायल बच्चों के परिजन अपने बच्चों की सलामती की दुआ मांग रहे हैं। 
इधर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चम्पावत के मौनकाण्डे स्थित प्राइमरी स्कूल में छत गिरने से हुई छात्र की मृत्यु पर मृतक के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से ₹2 लाख की सहायता राशि देने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने प्रदेश के सभी सरकारी स्कूल भवनों का निरीक्षण कर जरूरत अनुसार मरम्मत के निर्देश देते हुए कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि कक्षाएं पूरी तरह से सुरक्षित भवनों में ही संचालित हो।

यह भी पढ़ें 👉  वन भूमि हस्तांतरण के लंबित प्रकरणों की हुई समीक्षा, दर्जा राज्यमंत्री, विधायक और डीएम ने दिए प्रकरणों के जल्द निस्तारण के निर्देश


उधर चम्पावत के मुख्य शिक्षा अधिकारी जितेन्द्र सक्सेना ने बताया कि राजकीय प्राथमिक विद्यालय मौनकाण्डे में एक अन्य शौचालय भी बना हुआ था, जो कि छात्रों द्वारा प्रयोग में लाया जा रहा था। जिस शौचालय की छत गिरने से दुर्घटना हुयी, यह निष्प्रोज्य (प्रयोग में नहीं) था। मध्यावकाश में खेल-खेल में विद्यार्थी उस निष्प्रयोज्य शौचालय की छत पर चढ़ गये, जिससे कि भार अधिक होने के कारण दुघर्टना घटी।

यह भी पढ़ें 👉  नंदन अलमियां को अध्यक्ष, दीपक पाठक को चुना गया प्रबंधक