डायलिसिस सेंटर में हुई चोरी का पुलिस ने किया खुलासा, तीन लाख के इंजेक्शन के साथ आरोपी गिरफ्तार

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर । कोतवाली पुलिस ने डायलिसिस सेंटर में हुई चोरी का खुलासा करते हुए चोरी के सामान के साथ आरोपी को गिरफ्तार किया है।

मंगलवार को आशुतोष कुमार पुत्र सकटू राम निवासी कबीर गंज थाना हाजरा जिला पीलीभीत हाल डायलिसिस सैन्टर इन्चार्ज दि हंस फाउन्डेशन शाखा कार्यालय बागेश्वर ने कोतवाली में तहरीर दी कि 25 मई को हंस फाउंडेशन की ओर से संचालित डायलिसिस सेंटर से 155 इंजेक्शन चोरी हो गए। जिसकी जानकारी उन्हें दूसरे दिन तब हुई जब उन्होंने अपने कार्यालय को खोला। उन्होंने देखा कि डायलिसिस सैन्टर की खिडकी का दरवाजा व जाली तोडकर डायलिसिस सैन्टर के अन्दर रखे लगभग 155 इंजेक्शन जिनकी कीमत अनुमानित 3,41,775/- मूल्य है, अज्ञात चोरों ने चोरी कर ले गए है । पुलिस ने धारा 380/457 के तहत अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज किया। मामले की विवेचना एसआई संजय बृजवाल के सुपुर्द हुई । पुलिस टीम ने सुरागरसी पतारसी व सर्विलांस टीम की सहायता से त्वरित कार्यवाही करते हुए गुरुवार को आरोपी संजीव कुमार पुत्र रघुनन्दन निवासी नवाबगंज बरेली उत्तर प्रदेश को मांग के धारे के पास से मय चोरी किये गये 20 इंजेक्शन के साथ गिरफ्तार किया। उसकी निशानदेही पर बिलोना पुल के पास टूटी पहाडी की गुफा के अन्दर से एक पॉलीथीन के थैले में छुपाये हुए शेष 135 इन्जेक्शन भी बरामद किये । गिरफ्तारी के बाद मामले में धारा 411 की बढोत्तरी की गयी ।

यह भी पढ़ें 👉  बागेश्वर में हुई राष्ट्रीय स्तर की साइकिल रेस, गढ़वाल के साइकिलिस्टों का रहा दबदबा, रेडक्रॉस का भी मिला सहयोग