पीएम मोदी और भाजपा की तारीफ करना पड़ा भारी, पार्टी से छह साल के लिए निष्कासित हुए आचार्य

ख़बर शेयर करें -

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात, भाजपा की तारीफ और अपनी पार्टी कांग्रेस की आलोचना करना वरिष्ठ नेता प्रमोद कृष्णम को भारी पड़ गया। कांग्रेस ने उन्हें अनुशासनहीनता के आरोप में पार्टी से छह साल के लिए निष्कासित कर दिया है।
  पिछले कुछ समय से प्रमोद कृष्णम पीएम मोदी की जमकर तारीफ करते हुए कांग्रेस की आलोचना कर रहे थे। विगत दिनों उन्होंने पीएम मोदी से भेंट कर “श्री कल्कि धाम” के शिलान्यास समारोह के लिए उन्हें आमंत्रित किया था। इसके अलावा प्रमोद कृष्णम स्मृति ईरानी, राजनाथ सिंह से भी मुलाकात कर चुके हैं। वह हाल के दिनों में कई बार कांग्रेस के खिलाफ की बयान दे चुके थे। साथ ही कुछ दिनों से बीजेपी की जमकर तारीफ कर रहे थे। उन्होंने कहा था कि कांग्रेस में कुछ बड़े नेता ऐसे हैं, जिन्हें हिंदू शब्द से ही नफरत है. कुछ कांग्रेसी ऐसे नेता हैं, जिन्हें राम मंदिर से ही नहीं, बल्कि राम से भी नफरत है।
आचार्य प्रमोद कृष्णम पर आरोप है कि वो पार्टी के खिलाफ बयानबाज़ी कर रहे थे, अनुशासनहीनता दिखा रहे थे, जिसके बाद पार्टी ने यह कदम उठाया है। कांग्रेस की ओर से कहा गया- पार्टी के खिलाफ अनुशासनहीनता और बार-बार बयानबाजी की शिकायतों के मद्देनजर कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रमोद कृष्णम को तत्काल प्रभाव से छह साल के लिए पार्टी से निष्कासित करने के उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है।

Ad Ad Ad