सीएम हेल्पलाइन में दर्ज कई शिकायतों का नहीं हुआ निदान, जनता दरबार में हुई समीक्षा, एडीएम ने तय समय पर समाधान के दिए निर्देश

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। अपर जिलाधिकारी एनएस नबियाल की अध्यक्षता में जनता दरबार आयोजित हुआ। मात्र पांच लोग ही समस्यांए/शिकायतें दर्ज कराने पहुंचे। एडीएम ने सीएम हेल्पलाइन पर प्राप्त शिकायतों की समीक्षा करते हुए अधिकारियों को निश्चित समयावधि अंतर्गत शिकायतों के निस्तारण करने के निर्देश दिए।

सोमवार को तहसील सभागार में आयोजित जनता दरबार में अपर जिलाधिकारी ने लोगों की समस्या व शिकायतों को सुनते हुए कहा कि छोटी-छोटी समस्याओं का समाधान समय पर कर लिया जाय तथा जो शिकायतें उच्च स्तर की है, उस पर पत्राचार किया जाय।

जनता दरबार में राम प्रसाद सहित मंडलसेरा के लोगों ने वार्ड संख्या नौ में क्षतिग्रस्त मार्ग के सुधारीकरण के लिए धनराशि स्वीकृत कराने की मांग की, जिस पर अपर जिलाधिकारी ने ईओ नगर पालिका को आवश्यक कार्यावाही के लिए निर्देशित किया। पलायन बनलेख निवासी रमेश गिरि के दोफाड, बैडा-मझेड़ा मोटर मार्ग के निर्माण से आवासीय भवन का खतरा बताते हुए सुरक्षा दीवार लगवाने के अनुरोध पर अपर जिलाधिकारी ने ईई लोनिवि को स्थलीय निरीक्षण कर कार्यवाही करने के निर्देश दिए। राम प्रसाद निवासी बचीगांव व अन्य ग्रामीणाों ने गांव में पेयजल की समस्या बताते हुए इससे निजात दिलाने की मांग की। अपर जिलाधिकारी ने अधिशासी अभियंता जल निगम को आवश्यक कार्यवाही हेतु निर्देशित किया। गंगा सिंह पागती ने कोटमन्या-बागेश्वर नियमित बस सेवा संचालित कराने व डाक सेवा को पूर्व की भांति अल्मोडा से संचालित कराने की मांग रखी।   

यह भी पढ़ें 👉  रेडक्रॉस स्वयंसेवी ने किया रक्तदान, बुजुर्ग महिला के इलाज में की मदद


      अपर जिलाधिकारी ने सीएम हेल्पलाइन पर प्राप्त शिकायतों की भी समीक्षा करते हुए कहा कि विभागाध्यक्ष प्रतिदिन आईडी को लॉगिन करें और प्राप्त शिकायतों को एक पक्ष के भीतर निस्तारण करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि सीएम हेल्पलाइन पर प्राप्त शिकायतों की शासन स्तर पर निरंतर समीक्षा की जाती है, इसलिए अधिकारी शिकायतों के प्रति गंभीर रहते हुए उनका निस्तारण करना सुनिश्चित करें।
समीक्षा के दौरान उरेडा विभाग की 6, पीएमजीएसवाई 13, ग्राम्य विकास 4, पर्यटन एक, जल संस्थान 10, उद्यान एक, खनन 2 व शिक्षा विभाग की 4 शिकायतें लंबित रहने पर संबंधित विभागाध्यक्षों को निश्चित समयावधि में इनके निस्तारण के निर्देश अपर जिलाधिकारी ने दिए।

यह भी पढ़ें 👉  प्रदेश में फिर करवट बदलेगा मौसम, इन जिलों में होगी बारिश

जनता दरबार में मुख्य विकास अधिकारी आरसी तिवारी, ईई जल संस्थान सीएस देवडी, जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुलेखा बिष्ट, जिला पूर्ति अधिकारी मनोज बर्मन, परियोजना अधिकारी उरेडा मयंक नौटियाल सहित अन्य जिला स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।