कमरे में मिले चार शवों की मौत की जांच में जुटी पुलिस, राज्य महिला आयोग ने भी लिया मामले का संज्ञान

ख़बर शेयर करें -


बागेश्वर। नगर के समीप घिरौली, जोशीगांव में एक कमरे से मिले महिला और तीन बच्चों की मौत के कारणों का पता नहीं चल सका है। पुलिस मामले की जांच में जुट गई है। राज्य महिला आयोग ने भी मामले का संज्ञान लिया है। चार शव मिलने के मामले से क्षेत्र में सनसनी बनी हुई है।
विगत गुरुवार की शाम घिरौली जोशीगांव में एक मकान से नंदी देवी पत्नी भूपाल राम के अलावा बेटी 13 साल की अंजलि, बेटा सात साल का कृष्णा तथा डेढ़ साल के भाष्कर के शव मिले थे। शव बुरी हालत में मिले थे और उनसे दुर्गंध आ रही थी। शुक्रवार को जिला अस्पताल में मृतकों के शवों का पोस्टमार्टम कराया गया। वहीं एसपी हिमांशु कुमार वर्मा, सीओ अंकित कंडारी ने मौके पर जाकर जांच की। फॉरेंसिक टीम ने मौके से साक्ष्य जुटाए। जिला अस्पताल में तीन डॉक्टरों के पैनल ने शवों का पोस्टमार्टम किया, जिसकी वीडियोग्राफी कराई गई। उसके बाद शवों को परिजनों को सौंपा गया। देर शाम तीनों का अंतिम संस्कार किया गया, जबकि एक मासूम को दफनाया गया है। सरयू-गोमती संगम पर तीन की चिताएं एक साथ लगाई गई, जबकि मासूम को दफनाया गया। गमगीन माहौल में परिजनऔर ग्रामीण देर रात घरों को लौटे। इधर, जिला पंचायत अध्यक्ष बसंती देव, पूर्व विधायक ललित फर्स्वाण समेत अन्य लोग जिला अस्पताल पहुंचे। राज्य महिला आयोग की उपाध्यक्ष ज्योति साह मिश्रा ने बागेश्वर के जोशीगांव में महिला और तीन बच्चों की दर्दनाक मौत के मामले पर संज्ञान लिया है। उन्होंने जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक से घटना की पूरी रिपोर्ट आयोग को तत्काल सौंपने को कहा है। इधर एसपी हिमांशु कुमार वर्मा ने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर रही है। जांच और पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर ही चारों के मौत की स्थिति स्पष्ट होगी।

यह भी पढ़ें 👉  प्रदेश में जारी रहेगा गर्मी का सितम, मौसम विभाग ने बताई मानसून के दस्तक की तिथि