उपचुनाव में 50 दिव्यांग और 80 साल से अधिक उम्र के 943 मतदाता पोस्टल बैलेट से करेंगे मतदान

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। दिव्यांग एवं 80 वर्ष से अधिक उम्र के ऐसे मतदाता जो मतदान बूथ पर नहीं आ सकते है, वह आगामी 24 से 29 अगस्त तक घर पर मतदान करेंगे। घर-घर में पोस्टल बैलेट के माध्यम से मतदान कराने के लिए 33 मतदान पार्टियों व 33 माइक्रो आब्जर्वरों को रविवार को मतदान कराने का प्रशिक्षण दिया गया।
विधानसभा बागेश्वर में होने वाले उपचुनाव में 80 वर्ष से अधिक उम्र के 943 मतदाता व 50 दिव्यांग मतदाता पोस्टल मताधिकार का प्रयोग करेंगे, जिनको घर-घर जाकर पोस्टल मतदान के लिए 28-28 मतदान पार्टियां व आब्जर्वर लगायें गये है, जबकि पांच-पांच मतदान पार्टी व आब्जर्वर रिजर्व में रखे गये है। आगामी 24 से 29 अगस्त तक 80 वर्ष से अधिक उम्र के मतदाता एवं दिव्यांग मतदाताओं को पोस्टल बैलेट के माध्यम से मतदान कराया जायेगा।

रिटर्निंग ऑफिसर हरगिरि, मास्टर ट्रेनर डॉ. राजीव जोशी और दीप जोशी ने मतदान कार्मिकों को निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण तरीके से  पोस्टल बैलेट से मतदान करने का सैद्धान्तिक प्रशिक्षण देते हुए मतदान की बारीकियां समझायी। उन्होंने कहा कि पोस्टल बैलेट से मतदान करने वाले मतदाता के घर पर ही जाकर मतदान कराना अनिवार्य है। बीएलओ साथ में रहेंगे, पीठासीन अधिकारी बीएलओ से मतदाता की पहचान कराएंगे, उसके बाद पीठासीन अधिकारी मतदान की घोषणा का वाचन करेंगे, तद्पश्चात मतदाता का निर्वाचक नामावली में क्रमांक भाग संख्या का चिन्हाकंन कर उसकी पहचान करते हुए उनके दस्तावेजों का रजिस्टर में पंजीकरण करेंगे। इसके बाद मतदान के लिए बूथ निर्माण करेंगे, ताकि मतदान की गोपनीयता बनी रहे। उन्होंने कहा कि मतदान पार्टी सभी प्रपत्रों को सावधानी से भरेंगे तथा मतदाता से मतदान कराएंगे। मतदान के समय मौजूद पोलिंग एजेंट से निर्धारित प्रपत्र में मतदान होने के बाद हस्ताक्षर भी कराना सुनिश्चित करेंगे। इसके पश्चात सभी प्रपत्रों को नियत लिफापों में सील करना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने सभी मतदान अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे निष्पक्ष एवं पारदर्शिता के साथ मतदान कराना सुनिश्चित करेंगे तथा मतदान प्रक्रिया की वीडियोग्राफी कराना सुनिश्चित करेंगे, लेकिन वे यह सुनिश्चित करेंगे कि मतदान की गोपनीयता कतई भंग न हो। उन्होंने कहा कि माइक्रो आब्जर्वर मतदान के दौरान मतदान पार्टी के साथ अनिवार्य रूप से रहना सुनिश्चित करेंगे, सभी मतदान पार्टियां अपने-अपने सेक्टर मजिस्ट्रेट के साथ रूट चार्ट के अनुसार संचरण करते हुए मतदान कराना सुनिश्चित करेंगे।

प्रशिक्षण के दौरान सहायक रिटर्निंग ऑफिसर दीपिका आर्या, तितिक्षा जोशी, प्रभारी अधिकारी कार्मिक संगीता आर्या, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. हरीश पोखरिया, संगम शाह के साथ ही सभी सेक्टर मजिस्ट्रेट, माइक्रो आब्जर्वर, मतदान कार्मिक मौजूद थे।

यह भी पढ़ें 👉  लोगों के कार्यों को उलझाने की नहीं सुलझाने की प्रवृति बनाएं अधिकारी: सीएम