डीएम ने ग्रहण किया नगरपालिका में प्रशासक का कार्यभार, नगर से हटेगा अस्थाई अतिक्रमण

ख़बर शेयर करें -


बागेश्वर। नगर पालिका बोर्ड का कार्यकाल खत्म होने के उपरांत शनिवार को जिलाधिकारी अनुराधा पाल ने प्रशासक के तौर पर नगर पालिका का जिम्मा संभाला। शुक्रवार को नगर निकायों का कार्यकाल खत्म होने के फलस्वरूप शनिवार से निकाय जिलाधिकारी के हवाले हो गए। कार्यभार ग्रहण करने के बाद जिलाधिकारी ने कहा कि उत्तरायणी मेला भव्य तरीके से मनाने के लिए विशेष प्रयास किए जाएंगे।

शासन से आदेश के तहत डीएम पाल ने नगर पालिका में प्रशासक का अतिरिक्त कार्यभार संभालते हुए कहा कि प्रशासक तैनात होने के बाद भी निकायों की सभी व्यवस्थाएं पूर्व की भांति चलती रहेगी। उन्होंने बताया कि जो भी निर्णय होंगे वे प्रशासन के स्तर से किए जाएंगे। स्वच्छता से लेकर तमाम योजनाएं जारी रहेंगी। उन्होने कहा कि वे नगर अंतर्गत अस्थायी अतिक्रमणकारियों को हटाने और नगर में गंदगी फैलाने वालों के खिलाफ भी कार्रवाई होगी। नगर पालिका की आय बढ़ाने के प्रयास किए जाएंगे।

यह भी पढ़ें 👉  जोशीमठ अब हुआ ज्योतिर्मठ, कोश्या कुटौली का नाम श्री कैंची धाम

उन्होंने पालिका के द्वारा कराये जा रहे विकास कार्य एवं लंबित प्रस्तावों के साथ ही पालिका की आय-व्यय  संबंधित जानकारी ली। इस मौके पर अधिशासी अधिकारी हयात सिंह परिहार व अन्य कार्मिक मौजूद रहे।

यह भी पढ़ें 👉  लोगों के कार्यों को उलझाने की नहीं सुलझाने की प्रवृति बनाएं अधिकारी: सीएम

कपकोट में एसडीएम अनुराग बने प्रशासक

नगर पंचायत कपकोट में उपजिलाधिकारी अनुराग आर्या को प्रशासक के तौर पर तैनात किया गया है। जिस संबंध में आदेश दे दिए गए है। जिलाधिकारी ने पालिका स्टॉफ के साथ परिचात्मक बैठक लेते हुए सभी से नगर के विकास  में सहयोग की अपेक्षा की।