ग्राहक बनकर जांच को पहुंचे एसडीएम को चूना लगाने का किया प्रयास, पोल खुली तो पैरों तले से खिसक गई जमीन

ख़बर शेयर करें -

कमल कवि कांडपाल

यूं तो उत्तराखंड में शराब की दुकानों में ओवररेटिंग का मामला कोई नई बात नहीं, लेकिन हद तो तब हो गई जब सेल्समैन ने ग्राहक बनकर ओवररेटिंग की जांच करने आए एसडीएम को भी चूना लगाने का प्रयास कर दिया। दरअसल लगातार शिकायत मिलने के बाद पिथौरागढ़ एसडीएम सुंदर सिंह ग्राहक बनकर पिथौरागढ़ नगर के एक शराब की दुकान में पहुंचे तो सेल्समैन ने उनको भी नहीं छोड़ा और चोरी पकड़ी गई।
दरअसल मामला सीमांत जिला पिथौरागढ़ का है। यहां लोगों द्वारा शराब की दुकानों में ओवरवेट पर शराब बेचे जाने की शिकायत जब एसडीएम पिथौरागढ़ को मिली वो फिल्मी स्टाइल में खुद ग्राहक बनकर जा पहुंचे और शराब की बोतल मांगी तो दुकान में मौजूदा कर्मियों ने उनसे बोतल के 280 रूपये मांगे। एसडीएम ने जब बोतल पर अंकित रेट देखा तो चौंक गए बोतल पर 260 का रेट अंकित था। उन्होंने सैल्समैन से अधिक दाम वसूलने की वजह पूछी तो सैल्समैन ने 280 ही बताया।
सैल्समैन ने प्रिंट मूल्य से 20रूपये आधिक वसूले, अंकित दाम से अधिक मूल्य वसूलने की शिकायत के पुख्ता होने के बाद। एसडीएम दुकान में दाखिल हुए और स्टाॅक रजिस्टर कब्जे में ले लिया। वहां मौजूद कर्मियों के पैरों तले की जमीन खिसकने लगी। एसडीएम ने तत्काल आबकारी अधिकारी को कारवाई करने के निर्देश दिए हैं। एसडीएम सुंदर सिंह ने बताया कि उनको लगातार ओवररेटिंग की शिकायतें मिल रही थी तभी छापमेरी की गई। रिपोर्ट जिलाधिकारी को भेजी जायेगी और प्रिंट रेट से अधिक वसूलने पर नियमानुसार कार्रवाई की जायेगी।

Ad Ad Ad