तेजी से फैल रहा लंपी वायरस, मवेशी बीमार पड़े तो पशु चिकित्सक को दें सूचित, इन नंबरों पर करें फोन

ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर। कुमाऊं के सभी पर्वतीय जिलों में गोवंशीय पशुओं में लंपी स्किन डिजीज का प्रकोप हो रहा है। जिले में भी संक्रमण तेजी से बढ़ रहा है। पशुपालन विभाग ने पशुपालकों से सजग रहने और मवेशी में बीमारी के लक्षण दिखने पर चिकित्सक को सूचना देने की अपील की है।
यह एक वायरस से फैलने वाली बीमारी है। जिसमे पशुओं के शरीर में दाने उभरने के साथ ही हल्के से तेज बुखार और कभी कभी  आंख,नाक और मुंह से लार गिर सकती है।
कोरोना की ही तरह वायरल बीमारी होने के कारण इसका कोई इलाज नहीं है। लेकिन एंटीबायोटिक, दर्द निवारक और एंटीसेप्टिक लोशन और क्रीम आदि से इसका सफल इलाज किया जा सकता है। चिकित्सा करने पर 2 से 4 दिन में पशु  बिलकुल ठीक हो जाते है। देर से बताने या लापरवाही करने पर अधिक समय लग सकता है या पशु की मृत्यु हो सकती ।
इसलिए पशुपालकों से अपील है कि
– बीमारी के लक्षण दिखने पर तत्काल अपने नजदीकी पशु चिकित्सालय या पशु सेवा केंद्र पर संपर्क करें।
– बीमार पशुओं को स्वस्थ पशुओं से अलग रखें ।
– उन्हें चुगने के लिए न भेजें इससे दूसरे  पशुओं में भी रोग फेल सकता है।
– यह घातक रोग नहीं है लेकिन फिर भी इसे  नजरंदाज न करें।
– कुछ दिनों के लिए अपने पशुओं को न तो बेचें और ना ही कहीं से खरीद कर लाएं।
– पशुओं की चिकित्सा करने में पशुपालन विभाग  की  टीम को सहयोग करें।

पशुपालकों की सुविधा के लिए जनपद बागेश्वर के पशु चिकित्साधिकारियों के मोबाइल नंबर नीचे दिए जा रहे हैं –
1- डा कमल तिवारी, बागेश्वर
9410111608
2-डा देवेंद्र राणा, बोहला
   8791417837
3- डा अशोक कुमार,कांडा
    9410168474
4- डा पंकज पाठक,गरुड़
+919412928281
5-डा तेजेंद्र राणा, डंगोली
   9410914797
6-डा राजेंद्र चंतोला,कपकोट
9410514874
7-डा सुनीता, सौंग
8859081063
8- डा विजय कुमार,कर्मी/ खाती
+917060745943
9- डा पैनी आर्य,स्याकोट
    7579175941
10- डा पूजा जोशी, शामा
+919456727321

यह भी पढ़ें 👉  चंपावत में आयोजित हुआ एनयूजे का प्रदेश स्तरीय ‘मीडिया संवाद’, पत्रकारों के हित से जुड़े मामलों पर हुई चर्चा